अयोध्‍या के डीएम आवास के बोर्ड का रंग बदलना पड़ा भारी, जूनियर इंजीनियर पर गिरी गाज

उत्तर प्रदेश विधानसभा चुनाव अपने अंतिम दौर में पहुंचने वाला है, अब सिर्फ लास्‍ट रांउड की वोटिंग और रह गई है. इसके बाद 10 मार्च को विधानसभा चुनाव के नातीजे घोषिण किए जाएगें. इस बीच उत्‍तर प्रदेश में सियासी अटकलें तेज होती जा रही है. चुनाव माहौल के बीच हर छोटी से छोटी खबर भी बड़ा रूप ले रही है. हर खबर के कई मायने निकाले जा रहे है. इसी बीच एक बोर्ड का कलर बदलने के मामले ने भी तुल पकड़ लिया.

जिसके बाद एक कर्मचारी पर इसकी गाज गिरी. आपको बता दें कि हाल ही में चुनावों के बीच सबसे ज्‍यादा चर्चित अयोध्‍या में डीएम आवास के बाहर लगे बोर्ड का रंग बदल दिया गया था.

PWD के जूनियर इंजीनियर पर गिरी गाज

यह खबर जैसे ही सामने आई, मामले ने तुल पकड़ लिया. इस खबर के कई मायने निकाले गए. सपा ने तो बोर्ड का रंग बदलने को सत्‍ता बदलने का सूचक बाताया.

dm of ayodhya 1

मीडिया रिपोर्ट के मुताबिक डीएम आवास के बोर्ड का रंग पहले भगवा था जिसे बदल कर हरा कर दिया गया था. यह मामला छठे रांउड की वोटिंग से ठीक एक दिन पहले सामने आया था.

इसके बाद इस पर खूब विवाद हुआ और प्रशासन को बोर्ड का रंग फिर से बदलना पड़ा. इस बोर्ड का कलर बदल कर लाल कर दिया गया है.

वहींं अब इस मामले में प्रशासन ने बड़ी कार्यवाही की है. मीडिया रिपोर्ट के अनुसार लोक निर्माण विभाग के एक कनिष्ठ अभियंता को इस मामले में निलंबित कर दिया गया है.

इसके साथ ही आला अधिकारी चुनावों के बीच बोर्ड का रंग बदलने के मामले को लेकर कुछ भी बोलने से बच रहे हैं. प्रशासन ने कार्यवाही करते हुए लोक निर्माण विभाग के कनिष्ठ अभियंता अजय कुमार शुक्ला को इस मामले में निलंबित कर दिया है.

dm of ayodhya new bord

वहीं जिलाधिकारी और लोक निर्माण विभाग से इसे लेकर संपर्क किया गया लेकिन अधिशासी अभियंता कुछ भी बोलने के लिए तैयार नहीं हुए.

रंग बदलना, सत्‍ता परिवर्तन का संकेत

आपको बता दें कि अयोध्या के डीएम आवास के बोर्ड को हरे से बदलकर भगवा रंग किया गया था. यूपी में योगी आदित्यनाथ की सरकार बनने के बाद कई विभागों के बोर्ड के साथ ही डीएम आवास के बोर्ड को भी भगवा रंग से पेंट किया गया था.

new bord red colour

लेकिन अचानक से इसे फिर से हरे रंग में बदल दिया गया, जिसके बाद अटकाले लगाई जाने लगी कि सूबे में सत्‍ता परि‍वर्तन होने वाला है, इसलिए प्रशासन अभी से तैयारी में जुट गया है.

इतना ही नहीं इस मामले को लेकर अयोध्या सदर से सपा के प्रत्याशी तेज नारायण पांडे ने कहा कि अधिकारी सबसे बड़े मौसम वैज्ञानिक होते हैं. उन्हें पहले से पता होता है कि किस की सरकार आ रही है और कौन सी सरकार जा रही है.

वहीं इस मामले के मीडिया में आने के बाद जिलाधिकारी आवास के बोर्ड को हरे से बदल कर भगवा/लाल रंग में रंगवा गया था.

About Preet Bharatiya

Avatar of Preet Bharatiya
प्रीत हिंदी न्यूज़ कंटेंट राइटर हैं, पत्रकारिता में M.A की योग्यता रखती हैं, फिलहाल ये यूसी न्यूज़ हिंदी के लिए बतौर फ्रीलांसर कार्य कर रही हैं।

Leave a Reply

Your email address will not be published.