टि्वटर पर ट्रेंड हुआ #Airtel Jio लूट बंद करो: अब इनकमिंग के लिए कराना होगा इतने रुपए का रिचार्ज, लोगों का भड़का गुस्सा

सोशल मीडिया पर इस समय टेलीकॉम कंपनियां ट्रेंड में है. सोशल मीडिया पर इन कंपनियों को जमकर लताड़ा जा रहा है. सोशल मीडिया पर चलने वाले ट्रेंड हमें बताते है कि लोग अभी किस बारे में बात कर रहे है, वो कौनसे मुद्दे है जिस पर चर्चाएँ गर्म है. आज सोशल मीडिया पर एयरटेल और जिओ को लेकर बहस छिड़ी रही और दोनों कंपनियों के खिलाफ लगातार ट्रेंड चलते रहे.

सोशल मीडिया यूजर्स इन टेलीकॉम कंपनियों की नीतियों से असंतुष्ट है और उनका जमकर विरोध कर रहे है. इस दौरान लोगों ने खुलकर सोशल मीडिया पर इस मुद्दे को लेकर अपने विचार और राय व्यक्त की.

एयरटेल जिओ लोगों के निशाने पर

हंसराज मीना नाम के एक यूजर ने लिखा कि हमें हमारा पुराना भारत वापिस चाहिए, हमें एक बार फिर से बीएसएनएल चाहिए. वहीं राहुल नाम के एक यूजर ने कहा कि ये लूट है, वो दिन अब दूर नहीं है जब सिम कार्ड को एक्टिव रखने के लिए ही हर महीने 100 रुपए का बैलेंस डलवाना होगा.

jio airtel

ऐसे ही कई शिकायतों के साथ लोगों ने कंपनियों की नीतियों के खिलाफ आवाज़ उठाई और ट्वीटर पर #Airtel Jio लूट बंद करो ट्रेड करने लगा. वहीं इस दौरान कई लोगों ने मीम्स भी शेयर किये.

एक यूजर ने लिखा कि यह ट्रेंड देख कर इस वक्त आइडिया कह रहा होगा कि इतनी खुशी मुझे आज तक नहीं हुई. वहीं डॉ किरण मीना नाम के यूजर ने अपने ट्वीट में कहा कि अगर स्पीड 2G की है तो पैसा 4G का क्यों दिया जाए? पूरी दुनिया में महिना 30 दिनों का होता है लेकिन टेलीकॉम कंपनियों का महीना 28 दिन का होता है, ऐसा क्यों?

वहीं एक यूजर ने लिखा कि केंद्र सरकार को वोडाफोन आइडिया यानि वीआई को बचाना चाहिए नहीं तो एयरटेल और जिओ इसी प्रकार से लोगों को लूटते ही रहेंगे. ऐसे में जनता बेबस हो जाएगी.

सोशल मीडिया पर ज्यादतर यूजर एयरटेल और जिओ से स्पीड और महीनें के दिनों को लेकर विरोध करते नजर आए. लोगों का कहना है कि जब पैसा 4 जी का लिया जा रहा है तो स्पीड 2 जी की क्यों दी जा रही है? दुनिया में महिना 30 दिन का तो टेलीकॉम कंपनियों का महीना 28 दिन का क्यों?

इसके साथ ही लोगों का तर्क है कि जब सिम कार्ड बेचते समय लाइफटाइम का कह कर दिया गया है तो फिर हर महिना इनकमिंग बंद क्यों की जा रही है? इसके आलावा लोगों का यह भी कहना है कि इनकमिंग चालू रखने के लिए अब 49 की जगह 79 का रिचार्ज करना पड़ सकता है.

प्रातिक्रिया दे

आपका ईमेल पता प्रकाशित नहीं किया जाएगा. आवश्यक फ़ील्ड चिह्नित हैं *