आखिर कांग्रेस चीफ ने वरिष्ठ नेता शशि थरूर को ‘गधा’ क्यों कहा, जिस पर मच गया बवाल

तेलंगाना प्रदेश कांग्रेस कमेटी के अध्यक्ष रेवंथ रेड्डी ने पार्टी के वरिष्ठ नेता शशि थरूर के खिलाफ की अपनी कथित आ’पत्तिजनक टिप्पणी के लिए माफ़ी मांग ली है. मीडिया रिपोर्ट्स के अनुसार रेड्डी ने अपनी ही पार्टी के वरिष्ठ नेता शशि थरूर पर अपमा’नजनक टिप्पणी की थी. खबरों के अनुसार रेड्डी ने उन्हें गधा कहते हुए पार्टी से निकाले जाने की बात कहीं थी.

रेड्डी द्वारा थरूर के खिलाफ की गई इस कथित अपमा’नजनक टिप्पणी की खबरें सामने आई तो कांग्रेस के कई नेताओं ने नाराजगी जाहिर की थी. जिसके बाद रेवंथ रेड्डी को थरूर से माफ़ी मांगनी पड़ी.

शशि थरूर पर दिया अपमा’नजन’क बयान

मीडिया रिपोर्ट्स के अनुसार मल्कागिरी से सांसद रेवंथ रेड्डी ने कॉल करके शशि थरूर से माफ़ी मांगी है. कॉल पर बातचीत के बाद रेड्डी ने ट्विटर पर एक ट्वीट करके बताया कि मैंने शशि थरूर जी से कॉल करके बातचीत की.

Revanth Reddy

रेड्डी ने बताया कि मैंने थरूर जी से कहा कि मैं आपके खिलाफ दी गई अपनी टिप्पणी वापस लेता हूं और दोहराता हूं कि मैं अपने वरिष्ठ सहयोगी को सर्वोच्च सम्मान देता हूं. इसके साथ ही उन्होंने उनके शब्दों के चलते थरूर को पहुंची किसी भी तरह की ठेस के लिए खेद व्यक्त किया हैं.

वहीं कांग्रेस नेता शशि थरूर ने भी ट्वीट करके इस मामले की जानकारी दी है. तिरुवनंतपुरम से सांसद थरूर ने कहा कि रेवंथ रेड्डी ने मुझे फोन कर, जो कुछ कहा गया था, उसके लिए माफी मांगी है. मैंने उनके खेद की अभिव्यक्ति को स्वीकार करता हूं और इस दुर्भा’ग्यपूर्ण प्रकरण को पीछे छोड़ कर काफी खुश हूं.

आपको बता दें कि रेड्डी ने बीते दिनों शशि थरूर को गधा कहा था और उन्हें कांग्रेस से निकालने की बात भी कह डाली थी. दरअसल तेलंगाना आईटी मंत्री केटी रामाराव ने हैदराबाद में एक नाबालिग लड़की के रे’प और ह’त्या के आरो’पी की गिर’फ्तारी को लेकर एक पोस्ट किया.

पीसीसी प्रमुख रेड्डी ने मंत्री के इस दावे को झू’ठा बताते हुए उन पर निशाना साधा. रेड्डी ने कहा कि जिन लोगों ने आईटी मंत्री की तारीफ की, उन्हें पहले राज्य की स्थिति के बारे में पता कर लेना चाहिए. मंत्री के इस झू’ठे ट्वीट में उस गधे को भी टैग किया जाना चाहिए था.

रेड्डी ने आगे कहा कि अगर दोनों एक-दूसरे से अंग्रेजी में बात करेंगे तो इससे तो यहां कुछ बदलने वाला नहीं है. भाषा कोई ज्ञान नहीं बल्कि यह तो एक संचार करने का कौशल हैं. उन्होंने आगे कहा था कि वो उम्मीद जताते हैं कि शशि थरूर को पार्टी से जल्द ही निष्कासित कर दिया जाए.

रेड्डी ने कहा कि वो पार्टी के लिए एक बोझ साबित हो रहे है. आपको बता दें कि इस पर कांग्रेस नेता मनीष तिवारी ने भी आपत्ति दर्ज की थी.

प्रातिक्रिया दे

आपका ईमेल पता प्रकाशित नहीं किया जाएगा. आवश्यक फ़ील्ड चिह्नित हैं *