लखीमपुर खीरी केस: किसानों को अपनी गाड़ी से रोंदने वाले गृह राज्यमंत्री के बेटे आशीष मिश्रा को मिली जमानत

यूपी: Lakhimpur Kheri Case: लखीमपुर खीरी केस का मुख्य आरोपी आशीष मिश्रा (Ashish Mishra) उर्फ मोनू अब जल्द ही जेल से रिहा हो सकता है. लखनऊ हाई कोर्ट (High Court) की बेंच ने आशीष मिश्रा को आज ज़मानत दे दी है. बता दें के आशीष मिश्रा केंद्रीय गृह राज्य मंत्री अजय मिश्रा टेनी (Ajay Mishra Teni) का बेटा है. आपको बता दें कि बीती 18 जनवरी को ही लखनऊ की बेंच ने इसकी सुनवाई के बाद अपना फैसला सुरक्षित रख लिया था.

Ashsih Mishra ko Zamanat

उत्तर प्रदेश के लखीमपुर खीरी का यह केस साल 2021 का सबसे चर्चित मामला रहा था. किसानों पर गाड़ी चलाने के मामले में इस मंत्री के बेटे की गिरफ्तारी भी काफी मुश्किलों से हो सकी थी, हालांकि इस मामले में जांच कर रही एसआईटी ने अपनी जांच में इस बात की पुष्टि कर दी थी कि आशीष मिश्रा द्वारा किसानों पर गाड़ी चलाने की एक सोची समझी साजिश थी.

पूरी घटना एक सोची समझी साजिश थी

लखीमपुर खीरी मैं किसानों पर गाड़ी चलाने के मामले में जब एसआईटी ने अपनी जांच शुरू की तब उन्होंने भी यह माना था कि यह पूरी घटना एक तरह से सोची समझी साजिश थी, और उसने जानबूझकर किसानों पर चलने के उद्देश्य गाड़ी चलाई.

एसआईटी ने खीमपुर खीरी जिले के तिकोनिया गांव में हुए इस केस पर 5 हज़ार पन्नों की चार्जशीट भी दाखिल की थी जिसमें आशीष मिश्रा को ह’त्या का आरोपी पाया गया.

आपको बता दें कि साल 2021 में 3 अक्टूबर को एक कार्यक्रम में किसानों का एक जत्था ,कृषि कानूनों के खिलाफ विरोध प्रदर्शन करने के बाद लौट रहा था. इसके बाद एक एसयूवी तेजी से आई और कई लोगों को कोचलते हुए चली गई.

जिसमें कुछ लोगों की मौ’त हो गई थी. और फिर इसके तुरंत बाद ही और हिं’सा हुई इस घट’ना में भी कुछ लोग मा’रे गए थे आपको बता दें कि यह एसयूवी अजय मिश्र टेनी की ही थी जिसमें उनका बेटा आशीष मिश्रा सवार था.

About भास्कर राणा

Avatar of भास्कर राणा
भास्कर वरिष्ठ पत्रकार हैं, पिछले 5 वर्षों से विभिन्न न्यूज़ संस्थानों के लिए बतौर लेखक के रूप में अपनी सेवाएं देते हैं. फिलहाल यूसी न्यूज़ हिंदी के लिए एक फ्रीलांसर के रूप में कार्य कर रहे हैं.

Leave a Reply

Your email address will not be published.