Correction Policy

प्रिय पाठकों, कई बार समाचार या किसी तरह की पड़ताल लिखते वक़्त हमारी ये कोशिश रहती है कि हमारे लेखकों के द्वारा लिखी जा रही उस ख़बर या रिपोर्ट में थोड़ी सी भी गलती की गुंजाईश न रह जाए. लेकिन इसके बावजूद भी अगर किसी तरह की कोई मानवीय भूल लिखने के दौरान हो जाती है तो हम उसके लिए खुले मन से स्वीकार करते हैं, जिसके बाद उसको फिर एक बार पुनः जांच के बाद तत्काल उस भूल में सुधार किया जाता है.

जब भी कभी ऐसी स्तिथि बनती है तो टीम के लेखक द्वारा उस रिपोर्ट में सुधार के बाद उसी पोस्ट में या रिपोर्ट में आखिरी पेराग्राफ में हम इसकी जानकारी दे देते हैं. किसी भी न्यूज़ अथवा रिपोर्ट में ऐसा बदलाव करना सिर्फ तभी संभव है जब कोई बड़ी तथ्यात्मक ग़लती हो गयी हो या फिर ग़लती से कोई फैक्ट चेक का निष्कर्ष ही बदल गया हो.

हालांकि, बोलचाल की भाषा में प्रयोग होने वाली लिखी गयी मामूली अशुद्धियां या फिर छोटे मोटे शब्दों के सुधार करने पर हम अपने किसी पोस्ट या अपने उस आर्टिकल में इसे नहीं जोड़ते.

हमारी कोशिश हमेशा ये रही है कि हम अपने पाठकों तक सही और सटीक, तथ्यात्मक जानकारी पहुंचाएं, फिर भी अगर आपको हमारे पड़ताल करने के तरीके या उन नतीजों से किसी तरह की असहमति है, तो आप हमें इस इ मेल पते पर एक मेल करें contact@ucnewshindi.com यकीन मानिये हम आपकी वाजिब असहमति या उस शिकायत पर संज्ञान लेने की कोशिश ज़रूर करेंगे.

इसके अलावा एक सबसे आसान और तुरंत फीडबैक देने या अपनी शिकायत जताने का एक और तरीका यह भी है कि आप हमारे सोशल मीडिया हैंडल्स, जैसे के फेसबुक, ट्विटर आदि का इस्तेमाल भी कर सकते हैं, लेकिन ध्यान रहे की आपकी भाषा शैली सभ्य और शालीन तरीके से अपनी बात रखी गयी हो.