आर्यन खान केस: कोर्ट ने पंचनामे को बताया मनगढ़ंत साथ ही कहा- व्हॉटसऐप चैट पर्याप्त सबूत नहीं

मुंबई क्रूज ड्र’ग्स मामले में पिछले हफ्ते मुंबई की एक विशेष अदालत ने आचित कुमार को बेल देते हुए कहा कि सिर्फ व्हाट्सएप चैट के आधार पर आप यह नहीं साबित कर सकते है कि उसने बॉलीवुड स्टार शाहरुख खान के बेटे आर्यन खान और अरबाज मर्चेंट को ड्र’ग्स की सप्लाय की थी. कोर्ट के फैसले की विस्तृत प्रति रविवार को उपलब्ध हुई. कोर्ट ने अपने फैसले में नारकोटिक्स कंट्रोल ब्यूरो के पंचनामे पर भी सवाल उठाए है.

कोर्ट ने पंचनामे के रिकॉर्ड की सत्यता पर सवाल करते हुए कहा है कि वो मनगढ़ंत और सं’दिग्ध नजर आ रहे थे. शनिवार को नारकोटिक्स ड्रग्स एंड साइकोट्रोपिक सब्सटेंस अधिनियम से जुड़े मामलों की सुनवाई के लिए नामित स्पेशल जज वी वी पाटिल ने 22 वर्षीय आचित कुमार को बेल दे दी है.

व्हॉटसऐप चैट पर्याप्त सबूत नहीं

कोर्ट ने अपने आदेश में कहा कि आर्यन खान के साथ हुई व्हाट्सएप चैट के आलावा, आचित के किसी गैरकानूनी गतिविधियों में शामिल होने का कोई भी सबूत एनसीबी ने पेश नहीं किया है.

crude cae

कोर्ट के अनुसार सिर्फ व्हाट्सएप चैट के आधार पर किसी को दो’षी नहीं ठहराया जा सकता है. हम यह नहीं कह सकते है कि आचित कुमार आरोपी नंबर 1 और 2 यानि आर्यन और अरबाज को  ड्र’ग्स की आपूर्ति करता था.

कोर्ट ने कहा कि कुमार के जिस आरोपी के साथ व्हाट्सएप चैट पेश किये गए है उस आरोपी (आर्यन खान) को हाईकोर्ट ने जमानत दे दी है. इसी को देखते हुए कोर्ट ने कुमार को बेल दे दी है.

बता दें कि बीते गुरुवार को बॉम्बे हाईकोर्ट ने 3 अक्टूबर को क्रूज ड्र’ग्स केस में गिर’फ्ता’र किए गए आर्यन खान और अरबाज मर्चेंट को बेल दे दी थी. स्पेशल कोर्ट ने कहा कि कुमार के खिलाफ ऐसा कोई सबूत पेश नहीं किया गया है जो इस मामले के किसी अन्य आरोपी के साथ उसका कनेक्शन साबित कर सकें.

एनसीबी सबूत पेश करने में नाकाम?

कोर्ट ने एनसीबी की जांच पर सवाल उठाते हुए कहा कि पंचनामा गढ़ा गया है और इसे रेड के दौरन मौके पर नहीं बनाया गया, इसलिए इस में दिखाई गई बरामदगी संदिग्ध है और इस पर पूरी तरह भरोसा नहीं किया जा सकता है.

आदेश में आगे कहा गया है कि ऐसा कोई सबूत पेश नहीं किया गया है जो यह दर्शाता हो कि कुमार ने आर्यन खान या किसी अन्य को ड्र’ग्स की सप्लाई की हो, इसलिए कुमार बेल पर रिहा होने का हकदार है.

आपको बता दें कि एनसीबी ने दावा किया था कि कुमार के घर पर हुई रेड के दौरान 2.6 ग्राम गांजा बरामद हुआ था. ड्र’ग रोधी एजेंसी के अनुसार आचित कुमार ही वो शख्स था जो आर्यन खान और मर्चेंट को गां’जा और चरस की सप्लाई करता था.

About Preet Bharatiya

Avatar of Preet Bharatiya
प्रीत हिंदी न्यूज़ कंटेंट राइटर हैं, पत्रकारिता में M.A की योग्यता रखती हैं, फिलहाल ये यूसी न्यूज़ हिंदी के लिए बतौर फ्रीलांसर कार्य कर रही हैं।

Leave a Reply

Your email address will not be published.