दहेज़ लोभी दुल्हे ने की अपाचे गाड़ी की मांग, दुल्हन पक्ष ने बारातियों का सिर मूंडकर सिखाया सबक

सोशल मीडिया पर एक मामला इन दिनों चर्चा का विषय बना हुआ है. इस अनोखे मामले में दुल्हन औऱ उसके घरवालों ने एक दहेज लोभी दूल्हे को वो सबक सिखाया है जिसे वो जिंदगी भर याद रखेगा. साथ ही यह अन्य दहेज़ लोभियों के लिए एक सबक बनेगा. सोशल मीडिया पर इस काम की खूब जोरों से चर्चे चल रहे है. यह मामला लखनऊ शहर का बताया जा रहा है.

मीडिया रिपोर्ट्स के अनुसार शहर के खुर्रम नगर में एक शादी थी. यहां दुल्हे को दहेज मे दी गई बाइक पसंद नहीं आई जिसके चलले दूल्हा और उसके भाइयों ने निकाह करने से माना कर लिया. लड़की वालों ने दूल्हा पक्ष को मानाने की खूब कोशिश की लेकिन दहेज लोभी नहीं पसीजे.

दहेज लोभियों को दी गई अनोखी सजा

बताया जा रहा है कि दूल्हे और उसके भाई पल्सर की जगह अपाचे बाइक की मांग पर आड़े रहे. मान-मनौव्वल बढ़ा तो उन्होंने चार तोले सोने की चेन की मांग और रख दी.

bihar Groom

इसके बाद तो दुल्हन पक्ष के धैर्य ने जवाब दे दिया और उन्होंने दहेज लोभियों व उनके रिश्तेदारों को बंधक बना लिया. इसके बाद दूल्हे और उसके भाइयों समेत चार लोगों के सिर आधे मुड़ दिये गए. इसके बाद मामला और भड़क गया.

मामले को बढ़ता देख दूल्हे पक्ष से कुछ लोगों ने पुलिस को सुचना दे दी. पुलिस ने बंधक बनाए लोगों को छुड़ाया और उन्हें इंदिरानगर थाने ले गई.

दुल्हन के पिता ने बताया कि वो सब्जियां बेचकर परिवार का पेट पालते है. उनकी बेटी का रिश्ता करीब तीन महीने पहले अब्दुल कलाम से तय हुआ था. एक महीने पहले मंगनी कराई गई थी. निकाह के लिए अपनी हैसियत के अनुसार उन्होंने दहेज़ का सामना जुटाया था .

लेकिन निकाह के सात दिन पहले लड़के वालों ने अपनी मांगे बढ़ाना शुरू कर दी. निकाह के दिन दूल्हा करीब डेढ़ सौ बारातियों के साथ खुर्रमनगर आया. निकाह के लिए काजी को बुलाया गया लेकिन दुल्हे ने दहेज के सामान को देखा और निकाह करने से पहले शर्त रख दी.

दूल्हा इस बात पर अड़ गया कि उसे पल्सर गाड़ी नहीं चाहिए बल्कि उसे अपाचे बाइक चाहिए. साथ ही दुल्हे पक्ष ने चार तोला सोने के हार की डिमांड भी रखी. जब दुल्हन पक्ष ने उनकी मांग पूरी करने में असमर्थता जाहिर की तो दुल्हे ने बिना निकाह लौटने की ध’मकी दी.

बेटी के पिता ने कहा कि दूल्हा और बाराती शराब के नशे में हंगामा करने लगे थे. उन्हें काफी समझाया गया कि 85 हजार की बाइक वापस करके दूसरी लाना संभव नहीं है. दूल्हा जिस बाइक की मांग कर रहा है वो इससे सिर्फ 10 हजार रुपए मंहगी है.

इसके लिए बिना निकाह वापस लौटना ठीक नहीं रहेगा लेकिन इसके बाद भी बाराती नहीं माने. जिसके चलते दुल्हन पक्ष के लोग भी नाराज हो गए. जब बारात ने बिना निकाह वापस लौटना चाहा तो दूल्हन पक्ष के लोगों ने उन्हें बंधक बना लिया. जिसके बाद दूल्हे सहित चार लोगों को सजा देने के लिए उनके सिर मूड़ दिये गए.

प्रातिक्रिया दे

आपका ईमेल पता प्रकाशित नहीं किया जाएगा. आवश्यक फ़ील्ड चिह्नित हैं *