इंग्लैंड के हरफनमौला खिलाडी मोईन अली ने लिया बड़ा फैसला, फैंस को लगा झटका

इंग्लैंड के ऑलराउंडर मोईन अली ने अपने फैंस को मायूस करते हुए टेस्ट क्रिकेट को अलविदा कह दिया है. हालांकि वह अभी क्रिकेट के अन्य फोर्मेट में खेलना जारी रखेंगे. मोईन अली ने सोमवार को टेस्ट क्रिकेट से संन्यास की घोषणा की है. मोईन अली ने अपने शानदार टेस्ट करियर के दौरान 64 टेस्ट खेले है.

इनमें उन्होंने शानदार प्रदर्शन करते हुए इंग्लैड के लिए 195 विकेट हासिल किए. जबकि उन्होंने अपने करियर के दौरान पांच शतक भी ठोके हैं.

ऑलराउंडर मोईन अली ने लिया सन्यास

मीडिया रिपोर्ट्स के अनुसार इंग्लैड के इस 34 वर्षीय ऑलराउंडर ने कथित तौर पर कप्तान जो रूट, मुख्य कोच और राष्ट्रीय चयनकर्ता क्रिस सिल्वरवुड को अपने सन्यास के फैसले के बारे में अवगत करा दिया है.

Moeen Ali

64 टेस्ट मैच में इंग्लैंड का प्रतिनिधित्व करने वाले 34 वर्षीय मोईन अली ने क्रिकेट के इस लंबे फॉर्मेट में अपने प्रदर्शन को देखते हुए काफी विचार करने के बाद यह महत्वपूर्ण निर्णय लिया है.

मोईन अली अभी यूएई में है और वो आईपीएल 2021 के दुसरे चरण में खेल रहे है. आईपीएल में मोईन अली चेन्नई सुपर किंग्स का हिस्सा है जिसकी कप्तानी भारत के पूर्व कप्तान महेंद्र सिंह धोनी द्वारा की जा रही हैं.

धोनी की कप्तानी वाली चेन्नई सुपर किंग्स की तरफ से मोईन अली ने आईपीएल के 14वें सीजन में अब तक 9 मैच खेले है. इन 9 मैचों में उन्होंने 29.00 की औसत से 261 रन बनाए हैं और साथ ही 5 विकेट भी झटके है.

मोईन अली ने साल 2014 में श्रीलंका के खिलाफ टेस्ट क्रिकेट में अपना डेब्यू किया था. इसके बाद से अब तक उन्होंने इंग्लैड के लिए खेले 64 मैचों में 5 शतक और 14 अर्धशतकों की मदद से कुल 2914 रन बनाए हैं.

इस दौरान उनकी बल्लेबाजी औसत 28.29 रहा है. मोईन अली बाए हाथ के बल्लेबाज है. वो टीम में एक ऑलराउंडर के तौर पर खेलते रहे है.

मोईन अली ने जारी किया बयान

एक Right-Arm Off Spin गेंदबाज के तौर पर उन्होंने टेस्ट क्रिकेट में 194 विकेट हासिल किये है. उन्होंने अपना सर्वश्रेष्ठ प्रदर्शन साल 2017 में दिया है, जहां उन्होंने दक्षिण अफ्रीका के खिलाफ चार टेस्ट मैचों में खेलते हुए 25 विकेट चटकाए थे.

मोईन अली ने एक बयान जारी करके कहा कि मैं अपनी टीम के साथी खिलाडियों के साथ बाहर निकलना हमेशा मिस करूंगा. मैं दुनिया के सर्वश्रेष्ठ खिलाड़ियों के सामने नर्वस भावना के साथ नहीं खेलूंगा जिसमें गेंदबाजी भी शामिल है.

उन्होंने आगे कहा कि मैं किसी को भी अपनी सर्वश्रेष्ठ गेंद पर आउट कर सकता था. मोईन अली के संन्यास लेने के बाद इंग्लैंड को उनकी कमी जरुर खलेगी. उन्होंने अपने देश के लिए सात सालों तक टेस्ट मैच खेले हैं.

प्रातिक्रिया दे

आपका ईमेल पता प्रकाशित नहीं किया जाएगा. आवश्यक फ़ील्ड चिह्नित हैं *