मेरे साथ हर हिंदुस्तानी की दुआएँ, मेरे फाउंडेशन का एक-एक पैसा…

इनकम टैक्स डिपार्टमेंट ने 15 सितंबर को बॉलीवुड अभिनेता सोनू सूद के मुंबई ऑफिस समेत 6 ठिकानों पर सर्वे शुरू किया. इंडिया टुडे ने अपनी एक रिपोर्ट में बताया है कि आईटी अधिकारी अभिनेता के अकाउंट बुक से लेकर कमाई और खर्च के तमाम आर्थिक दस्तावेजों की जांच करने में जुटे हुए है. इसके साथ ही सोनू सूद से जुडी हुई संस्थाओं की जांच भी जा रही है.

वहीं इस मामले को लेकर IT डिपार्टमेंट्स की तरफ से दावा करते हुए कहा गया है कि सोनू सूद से जुड़े ठिकानों पर तलाशी के दौरान 20 करोड़ रुपए की टैक्स चोरी सामने आई है, जबकि 65 करोड़ रुपये के फर्जी लेनदेन, दो करोड़ रुपये से अधिक की अवैध विदेशी फंडिंग भी सामने आई है.

मेरे फाउंडेशन का हर रुपया..

इसके आलावा जयपुर की एक इन्फ्रा फर्म के साथ हुए 175 करोड़ रुपये के सर्कुलर के लेनदेन पर भी संदेह जताया जा रहा हैं. वहीं आईटी विभाग की कार्रवाई के बाद सोनू सूद ने पहली बार अपना बयान दिया है.

help sonu

अपने सोशल मीडिया हैंडल से किये एक पोस्ट में सोनू सूद ने अपने ऊपर लगे टैक्स चा’री के आरोपों पर जवाब दिया है. साथ ही उन्होंने आईटी विभाग पर भी तंज कसा हैं.

शेयर किये गए पोस्ट में सोनू ने लिखा है कि ”हर बार आपको अपनी स्टोरी बताने की ज़रूरत नहीं होती. वक्त खुद बता देगा”.

पोस्ट में आगे लिखा है कि मैंने भारत के लोगों की सेवा में पूरे दिल और ताकत से खुद को समर्पित किया है. उन्होंने बताया कि मेरे फाउंडेशन का हर रुपया किसी की जा’न बचाने और किसी ज़रूरतमंद की मदद करने के लिए इंतजार कर रहा हैं.

कई अवसरों पर मैंने ब्रांड्स से मेरी एंडॉर्समेंट फीस को भी मानवीय कार्यों के लिए दान करने के लिए है, ताकि हमारा काम चलता रहे. मैं पिछले चार दिनों से अपने आए कुछ मेहमानों की खातिरदारी में लगा हुआ था, इसलिए आपकी मदद नहीं कर पाया.

‘कर’ भला हो भला

उन्होंने आगे लिखा कि मैं पूरी विनम्रता के साथ आपकी सेवा में वापस लौट गया हूं. जीवनभर के लिए. सोनू सूद ने पोस्ट में आगे लिखा है-

‘कर’ भला हो भला
अंत भले का भला
मेरी यात्रा जारी रहेगी. जय हिंद सोनू सूद

सोनू सूद ने अपने इस पोस्ट को शेयर करते हुए कैप्शन में लिखा है कि ‘सख्त राहों में भी आसान सफर लगता है,
हर हिंदुस्तानी की दुआओं का असर लगता है’.

सोनू सूद ने कोरोना महामा’री के दौरान कई ज़रूरतमंद लोगों को मदद मुहैया कराई थी. उन्होंने महानगरों से अपने शहर-गांव लौटने की राह देख रहे लोगों को अपने खर्चे पर परिवहन सुविधा उपलब्ध कराई थी. इसके आलावा उन्होंने जरुरतमंदों तक हरसंभव मेडिकल मदद पहुंचाई थी.

ऐसे में लोगों को मसीहा सोनू सूद के घर पर हुआ यह इनकम टैक्स का सर्वे गले नहीं उतर रहा है. सोनू सूद को हाल ही में दिल्ली सरकार ने अपने देश के मेंटर प्रोग्राम का ब्रैंड अम्बैसेडर बनाया है. इस दौरना उन्होंने सीएम केजरीवाल के साथ प्रेस कांफ्रेंस भी की. जिसे सोशल मीडिया पर लोग इस सर्वे की एक वजह मान रहे है.

प्रातिक्रिया दे

आपका ईमेल पता प्रकाशित नहीं किया जाएगा. आवश्यक फ़ील्ड चिह्नित हैं *