बनारस में ईवीएम को लेकर बवाल, अखिलेश यादव ने EVM में गड़बड़ी का लगाया आरोप

उत्तर प्रदेश के बनारस में आज कुछ लोगों ने एक वाहन में EVM मशीनों को ले जाते देख उसको रोक लिया. उन्होंने देखा कि इस वहां में कुछ ईवीएम मशीन हैं जो कहीं ले जाई जा रही थी. यह ईवीएम मशीन मंडी स्थित खाद गोदाम में बनी स्टोरेज से यूपी कॉलेज के लिए जा रही थी, फिर क्या था लोगों ने यहीं से हंगामा करना चालू कर दिया, और इस तरह से बाजार में ईवीएम बदलने की खबर फ़ैल गयी.

UP में ईवीएम मशीन

इस घट’ना पर सपा के नए बने नेता स्वामी प्रसाद मौर्य ने भी इसका एक वीडियो Tweet साझा कर ईवीएम मशीन की हेराफेरी का आरोप लगाया है. उन्होंने लिखा, ‘चोर चोरी से जाए, हेरा-फेरी से न जाए.

देखते ही देखते वहां सैकड़ों वहां सैकड़ों समाजवादी पार्टी के कार्यकर्ता इकट्ठे हो गए और गाड़ी के चालक को भी उन्होंने बं’धक बना लिया. इसके बाद सपा कार्यकर्ताओं ने मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ के खिलाफ नारेबाजी शुरू कर दी.

अखिलेश यादव ने EVM हेराफेरी के आरोप लगाए

इसके बाद पूरे शहर में यह खबर फ़ैल गयी की इन मशीनों की हेराफेरी की जा रही है, और देखते ही देखते हजारों की तादाद में इकट्ठे होकर समाजवादी पार्टी के कार्यकर्ता स्ट्रांग रूम तक भी पहुंच गए, जहाँ उन्होंने EVM की सुरक्षा में तैनात अर्धसैनिक बलों और पुलिस वालों से भी तीखी बहस की.

रात होते होते तो कई हजारों की तादाद में सपा के कार्यकर्ता इकट्ठे हो गए. इसके बाद जहां उन्होंने आशापुर-पांडेपुर मार्ग को जाम कर दिया. इस बात की खबर जब जिलाधिकारी को लगी तो वे तुरंत मौके पर पहुंचे और नेताओं कार्यकर्ताओं को समझाने का प्रयास करने लगे.

अधिकारी ने बताया कर्मचारियों की काउंटिंग ट्रेनिंग होनी है

जिलाधिकारी कौशलराज शर्मा ने लोगों को समझाया कि ये EVM मशीने प्रशिक्षण के पहड़िया मंडी स्थित अलग खाद्य गोदाम में बने स्टोरेज से यूपी कॉलेज इसीलिए जा रही थी कल सुबह वहां इलेक्शन की काउंटिंग करवाने के लिए ईवीएम से ट्रेनिंग देनी थी, लेकिन कुछ लोगों ने इसे चुनाव में प्रयुक्त ईवीएम कह कर गलत खबर फैला दी.

जिलाधिकारी की यह बात सुनकर वहां पर मौजूद लोगों को उन पर विश्वास नहीं हुआ फिर इसके बाद फैसला लिया गया कि कल जो ट्रेनिंग होने वाली है वह बिना ईवीएम मशीनों के ही दी जाएगी.

समाजवादी पार्टी के राष्ट्रीय अध्यक्ष अखिलेश यादव ने, ईवीएम मशीनों में हेराफेरी के आरोप लगाए हैं. इतना ही उन्होंने तो यहां तक भी कहा है कि सभी कार्यकर्त्ता अपने कैमरा के साथ तैयार रहें. जब तक वोटों की गिनती नहीं हो जाती तब तक कार्यकर्ताओं को चौकन्ना रहने की सलाह दी है.

About भास्कर राणा

Avatar of भास्कर राणा
भास्कर वरिष्ठ पत्रकार हैं, पिछले 5 वर्षों से विभिन्न न्यूज़ संस्थानों के लिए बतौर लेखक के रूप में अपनी सेवाएं देते हैं. फिलहाल यूसी न्यूज़ हिंदी के लिए एक फ्रीलांसर के रूप में कार्य कर रहे हैं.

Leave a Reply

Your email address will not be published.