एमपी की पूर्व सीएम उमा भारती ने शराब की दुकान पर पत्थर मार, सीएम शिवराज सिंह को दिया अल्टीमेटम

बीजेपी की वरिष्ठ नेता और मध्यप्रदेश की पूर्व सीएम उमा भारती शराबबंदी की मांग को लेकर अपनी ही पार्टी की सरकार के खिलाफ सड़क पर उतर आई हैं. उन्होंने रविवार को भोपाल में एक शराब की दुकान में घुसकर जमकर तोड़-फोड़ की. उमा भारती भोपाल के बीएचईएल इलाके के आजाद नगर में मौजूद एक दुकान में घुसीं और पत्थर मारकर शराब की बोतलें तोड़ते नजर आई.

इसके बाद उन्होंने खुद सोशल मीडिया पर इस घटना का वीडियो भी शेयर किया. वीडियों शेयर करते हुए उन्‍होंने लिखा कि बरखेड़ा पठानी आजाद नगर, बीएचईएल Bhopal, यहां मजदूरों के इलाके में शराब की दुकानों की श्रृंखला है जो एक बड़े आहाता में लोगों को शराब परोस रहे हैं.

उमा भारती का शिवराज को अल्टीमेटम

उमा भारती ने इन दुकानों के चलते लोगों को होने वाली समस्याओं का जिक्र करते हुए लिखा कि इलाके में मजदूरों की बस्ती है और पास में ही मंदिर हैं. दुकानों के पास ही छोटे बच्चों के स्कूल हैं.

uma bharti and shivraj

उन्‍होंने लिखा कि जब लड़कियां और महिलाएं छतों पर होती है तो कई शराबी उनकी तरफ मुंह करके लघुशंका करते है और उन्‍हें लज्जित करते हैं. साथ ही इन दुकानों में मजदूरों की पूरी कमाई फुक जाती है.

स्‍थानीय महिलाओं इसे लेकर कई बार आपत्ति जाहिर कर चुकी है, विरोध प्रदर्शन और धरना भी कर चुकी है, क्योंकि ये दुकानें सरकारी नीति के खिलाफ खुली हुई हैं. उमा भारती ने इस मामले को लेकर सीएम शिवराज सिंह को भी चेतावनी भी दी है.

वहीं इस मामलेे को लेकर कांग्रेस ने शिवराज सरकार पर तंज कसा है. कांग्रेस प्रवक्ता और मीडिया समन्वयक नरेंद्र सलूजा ने लिखा कि गृह मंत्री नरोत्तम मिश्रा जी, हम भी सूबे में शराबबंदी चाहते है.

uma bharti formar cm

उन्‍होंने आगे लिखा कि जैसा विरोध आज प्रदेश की पूर्व सीएम उमा भारती जी ने शराब की दुकान का किया है, वैसा ही विरोध मैं भी करना चाहता हूँ. कृपया करके अनुमति दीजिये.

वहीं इस मामले को लेकर सोशल मीडिया पर भी प्रतिकिया देखने को मिली है. हिमांशु नायक नाम के एक यूजर ने लिखा कि मगर एमपी मेंं तो आपकी ही डबल इंजन सरकार है, क्या दोनों इंजन मिलकर जनता में शराब परोसते रहे हैं? फिर तो ये डबल इंजन सरकार देश के लिए घा’तक है, आपके इस व्यवहार को देखकर लग रहा है.

शिवराज सरकार शराब के करोबार को बढाने की राह पर

आपको बता दें कि मध्यप्रदेश की पूर्व मुख्यमंत्री उमा भारती ने साल 2021 के अंत में कहा था कि वह 15 जनवरी 2022 तक सूबे में शराबबंदी करवाएंगी. अगर ऐसा नहीं होता था तो वह सड़कों पर उतरेंगी.

वहीं उमा द्वारा दी गई तारीख खत्म होने के ठीक दो दिन बाद शिवराज कैबिनेट ने शराबबंदी तो दूूर की बात है बल्कि अपनी नई शराब नीति का ऐलान किया, जिससे सूबे में शराब सस्ती हो जाएगी और शराब के करोबार को बढाने के लिए कई ऐलान किए गए.

About Preet Bharatiya

Avatar of Preet Bharatiya
प्रीत हिंदी न्यूज़ कंटेंट राइटर हैं, पत्रकारिता में M.A की योग्यता रखती हैं, फिलहाल ये यूसी न्यूज़ हिंदी के लिए बतौर फ्रीलांसर कार्य कर रही हैं।

Leave a Reply

Your email address will not be published.