रेलवे ला रहा है अपनी खुद की कोरियर सर्विस, अब ऐमेज़ॉन और फ्लिपकार्ट की तरह देगा सेवाएं

भारत में घर बैठे ऑनलाइन खरीददारी का क्रेज तेजी से बढ़ा है. इसी बीच फ्लिपकार्ट और अमेजन जैसी कंपनियों की तर्ज पर अब इंडियन रेलवे भी बड़ा कदम उठाने जा रही है. रेलवे आपके पसंदीदा सामान को आपके घर तक पहुंचाया करेगा. इसके लिए रेलवे एक ऐप भी लांच करने जा रहे है जिस पर आप अपने समान का आर्डर बुक कर सकेंगे. रेलवे इस योजना को सबसे पहले पायलट प्रोजेक्ट के तौर दिल्ली एनसीआर के इलाकों में शुरू करने जा रहा है.

इसके आलावा रेलवे गुजरात के इलाकों में भी इस योजना को शुरू करने वाली है. रेलवे की इस नई डोर टू ड़ोर डिलीवरी सर्विस के तहत देश के किसी भी हिस्से में रहने वाले लोग अपने पसंदीदा सामान को अपने घर पर मंगवा सकेंगे.

अब रेलवे डिलीवर करेगा आपका सामान

ग्राहकों को होम डिलीवरी के साथ ही अपने सामान को किसी ख़ास जगह से भी कलेक्ट करने की सुविधा दी जाएगी. रेलवे के इस खास प्रोजेक्ट के लिए तैयार किये गए ऐप में आप आर्डर बुक करने के साथ ही अपने समान को ट्रैक भी कर सकेंगे जिससे आपको पता चल सकें कि आपका सामान कहां तक पहुंचा है.

railway freight

आर्डर के साथ ही आपको अपने समान के लिए लगने वाले डिलीवरी चार्ज की जानकारी भी ऐप पर भी पता चल जाएगी. रिपोर्ट्स के मुताबिक रेलवे इस प्रोजेक्ट को लेकर डाक विभाग और माल ढुलाई के लिए तैयार किए गए डेडिकेटेड फ्रेट के साथ समझौते के तहत काम कर रहा है.

हालांकि डेडिकेटेड फ्रेट ने इस प्रोजेक्ट का ट्रायल शुरू कर दिया है, रेलवे इसी साल जून जुलाई के इस सेवा को पायलट प्रोजेक्ट के तौर पर दिल्ली-एनसीआर और गुजरात में शुरू कर सकता है और इसके बाद यह सेवा देभर में लागू की जा सकती हैं.

आपको बता दें कि इस नए प्रोजेक्ट के जरिए रेलवे होम डिलीवरी के क्षेत्र में अपना स्थान बनाने के प्रयास में जुटा हुआ है. हालांकि अभी तक इस काम में कई प्राइवेट कंपनियां ही कर रही थी जिसमें कुछ कुरियर और ई कॉमर्स कंपनियां शामिल है.

railway home delivery

डिलीवरी शुल्क में आ सकती है गिरावट

वहीं माना जा रहा है कि रेलवे के इस कदम से डिलीवरी शुल्क में भी गिरावट देखने को मिल सकती है, क्योंकि सड़क के जरिए माल ढुलाई की तुलना में रेल से माल ढुलाई में खर्चा कम आएगा.

ऐसे में डिलीवरी में कीमतों में गिरावट देखने को मिल सकती हैं,. आपको बता दें कि मौजूदा वक्त में रेलवे ने फ्रेट के ऊपर नए सिरे से ध्यान दिया है, रेलवे अपनी कमाई बढ़ाने पर फोकस कर रहा है.

About Preet Bharatiya

Avatar of Preet Bharatiya
प्रीत हिंदी न्यूज़ कंटेंट राइटर हैं, पत्रकारिता में M.A की योग्यता रखती हैं, फिलहाल ये यूसी न्यूज़ हिंदी के लिए बतौर फ्रीलांसर कार्य कर रही हैं।

Leave a Reply

Your email address will not be published.