धर्म संसद पर सवाल पूछने पर भड़के केशव मौर्य, माइक फेंक जबरन डिलीट कराया इंटरव्यू फुटेज

उत्तर प्रदेश के डिप्टी सीएम केशव प्रसाद मौर्य का एक वीडियो सोशल मीडिया पर खूब वायरल हो रहा है. वीडियो में केशव प्रसाद मौर्य एक रिपोर्टर पर भड़कते हुए नजर आ रहे है, इतना ही नहीं वो अपना माइक निकल कर फेंक देते है और कैमरे की तरफ इशारा करके उसे बंद करने के लिए कहते है. यह वीडियो बीबीसी को दिये गए एक इंटरव्यू का है.

मीडिया रिपोर्ट्स के मुताबिक जब डिप्टी सीएम केशव प्रसाद मौर्य से हरिद्वार में हुई धर्म संसद को लेकर सवाल किया गया तो वो भड़क हुए और इंटरव्यू को बीच में ही छोड़ते हुए कहने लगे कि धर्म संसद चुनाव से जुड़ा मुद्दा नहीं है.

डिप्टी सीएम केशव मौर्य ने फेंका माइक

इस दौरान उन्होंने कहा कि कहा कि अपने मंच से धर्माचार्यों को अपनी बात रखने का पूरा अधिकार है. बीबीसी हिंदी से बातचीत के दौरान यूपी के उप-मुख्यमंत्री मौर्य से हरिद्वार और रायपुरमें हुई धर्म संसदों को लेकर सवाल किया गया.

keshav prasad maurya bbc

इस सवाल से वो इतना छिड़ गये कि उन्होंने अपना माइक भी उतार फेंका था. वहीं बीबीसी के अनुसार मौर्य ने अपने सुरक्षाकर्मी को बुलाया और बीबीसी से इंटरव्यू की फुटेज जबरन डिलीट कराई, जिसे बाद में काफी मशक्कत के बाद बीबीसी ने किसी तरह रिकवर किया.

वहीं जिन धर्म संसदों का जिक्र किया गया था वो हाल ही में काफी चर्चा में रही थी. दरअसल एक धर्म संसद के दौरान मुस्लिमों को लेकर तो दूसरी में महात्मा गांधी को लेकर भ’ड़काऊ बयानबाजी और अपमानजनक शब्दों के इस्तेमाल के आरोप लगाए गए है.

इस दौरान मौर्य ने कहा कि भाजपा को कोई प्रमाण पत्र देने की जरूरत नहीं है, बीजेपी सबका साथ, सबका विकास की बात करने में विश्वास रखती है.

वहीं धर्म संसदों के सवाल पर मौर्य ने कहा कि अपने मंच से धर्माचार्यों को अपनी बात कहने का पूरा अधिकार है. उन्होंने कहा कि आप सिर्फ हिंदू धर्म आचार्यों की बात क्यों कर रहे है, बाकि दूसरे धर्म के धर्माचार्यों द्वारा क्या-क्या बयान दिए गए उन पर बात क्यों नहीं कर रहे.

धर्म संसद बीजेपी की नहीं थी

मौर्य ने अपने बात आगे बढ़ाते हुए कहा कि जम्मू कश्मीर से अनुच्छेद 370 हटाए जाने से पहले कितने लोगों द्वारा वहां से पलायन किया गया उस पर बात क्यों नहीं करते. धर्म संसद भारतीय जनता पार्टी की नहीं थी.

dharm sansd quetion

डिप्टी सीएम ने आगे कहा कि धर्म संसद साधु-संतों की थी. वो अपनी बैठक में क्या बात करते हैं ये उनका विषय हैं. और जो उनके मंच से उन्हें उचित बात लगती है वहीं वो लोग कहते हैं.

इस पर रिपोर्टर ने कहा कि क्या धर्म संसद से जुड़े लोग उत्तरप्रदेश विधानसभा चुनाव के लिए माहौल बनाने का प्रयास नहीं कर रहे? इस पर मौर्य ने कहा कि ऐसा कोई माहौल बनाने का प्रयास नहीं हो रहा, यह मुद्दा चुनाव से जुड़ा नहीं है यह कहते हुए उन्होंने अपना माइक ह’टा दिया और आगे बात करने से माना कर दिया.

About Preet Bharatiya

Avatar of Preet Bharatiya
प्रीत हिंदी न्यूज़ कंटेंट राइटर हैं, पत्रकारिता में M.A की योग्यता रखती हैं, फिलहाल ये यूसी न्यूज़ हिंदी के लिए बतौर फ्रीलांसर कार्य कर रही हैं।

Leave a Reply

Your email address will not be published.