आर्यन केस का सबसे चर्चित शख्श अपने आपको कानून के हवाले करेगा, मीडिया को बताया क्यों था फ़रार

शाहरुख़ खान के बेटे आर्यन खान की गिर’फ्तारी 3 अक्टूबर को हुई थी, इसके बाद से ही आर्यन खान जे’ल में बंद है. आर्यन खान को एनसीबी ने क्रू’ज ड्र’ग्स मामले में गिर’फ्तार किया हैं. इस मामले में आर्यन की गिर’फ्तारी से ही एक नाम चर्चा का विषय बना हुआ है और वो नाम है किरण गोसावी. एनसीबी ऑफिस में गोसवी ने आर्यन खान के साथ सेल्फी ली थी जो बाद में सोशल मीडिया पर खूब वायरल हुई थी. इसके बाद से ही किरण गोसावी लगातार चर्चा में बने हुए हैं.

किरण गोसावी के खिलाफ कई मामले दर्ज है और पिछले काफी वक्त से वो फरार चल रहा हैं. मीडिया रिपोर्ट्स के अनुसार अब खबर है कि आर्यन खान ड्र’ग्स मामले में एनसीबी के गवाह किरण गोसावी लखनऊ में सरेंडर करने जा रहा हैं.

गोसावी का सरें’डर

यह जानकारी खुद गोसावी ने दी है, उसने बताया है कि वो लखनऊ पुलिस के सामने आत्मसमर्पण करने जा रहा है. वहीं जब उस से पूछा गया कि आपके बॉडीगार्ड ने आर्यन को छोड़ने के लिए 25 करोड़ की डील करने के आरोप लगाए हैं? इस पर गोसावी ने कहा कि सभी आरोप झूठ हैं, पुलिस मामले की जांच करें जिससे सच बाहर आ सके.

kiran gosabi

इसके बाद गोसावी से सवाल किया गया कि अगर सभी आरोप निराधार है तो वो इतने लंबे वक्त से पुलिस और एजेंसी से भाग क्यों रहे हैं? इस पर उसने बताया कि मुझे लगातार धम’कियां दी जा रही है और मेरी जा’न को खत’रा बना हुआ है.

इस दौरान गोसावी ने दावा किया कि 2 अक्टूबर को उसकी एनसीबी अधिकारी समीर वानखेड़े के साथ पहली मुलाकात हुई थी. आर्यन खान मामले में गोसावी एक गवाह है.

आपको बता दें कि किरण गोसवी के एक निजी बॉडीगार्ड ने गोसावी पर कई आरोप लगाए हैं. गोसावी के बॉडीगार्ड होने का दावा करने वाले प्रभाकर सेल ने किरण गोसावी पर कई हैरान करने वाले आरोप लगाए है.

प्रभाकर ने दावा किया है कि उसने गोसावी और अभिनेता शाहरुख़ खान की पर्सनल मैनेजर पूजा ददलानी और सैम डिसूजा के बीच हुई एक मीटिंग के बारे में सुना था. प्रभाकर का कहना है कि इस बातचीत में आर्यन को छोड़ने के बदले 18 करोड़ की डील होने की बात कहीं थी.

बताए सभी आरोप निराधार

प्रभाकर का कहना है कि उसने गोसावी को कहते हुए सुना कि इस 18 करोड़ में से 8 करोड़ रूपये एनसीबी अधिकार समीर वानखेड़े को दिये जाएंगे. इसके बाद से ही एनसीबी अधिकारी समीर वानखेड़े सवालों के घेरे में बने हुए हैं.

वहीं एनसीपी नेता और महाराष्ट्र सरकार में मंत्री नवाब मलिक समीर वानखेड़े पर लगातार हम’ला हो रहे है. इस मामले को लेकर मलिक ने वानखेड़े के खिलाफ कार्रवाई करने की मांग पुलिस से की है. वहीं मुंबई पुलिस को पत्र लिखकर समीर वानखेड़े ने अपने खिलाफ होने वाली संभावित जांच से बचाव की मांग की हैं.

About Preet Bharatiya

Avatar of Preet Bharatiya
प्रीत हिंदी न्यूज़ कंटेंट राइटर हैं, पत्रकारिता में M.A की योग्यता रखती हैं, फिलहाल ये यूसी न्यूज़ हिंदी के लिए बतौर फ्रीलांसर कार्य कर रही हैं।

Leave a Reply

Your email address will not be published.