जो लोग आर्यन की तुलना माधवन के बेटे से कर रहे थे, वो ‘आर माधवन’ के ट्वीट के बाद देखते ही रह गए

गुरुवार को बॉम्बे हाई कोर्ट ने शाहरुख़ खान के बेटे आर्यन खान की जमानत याचिका स्वीकार कर ली है. आर्यन को गिर’फ्तारी के 25वें दिन जमानत मिल पाई. एनसीबी ने 03 अक्टूबर को आर्यन को गिरफ्ता’र किया था. इसके बाद से ही आर्यन खान के मामले पर कोर्ट के अंदर और बाहर दोनों ही जगह पर चर्चा चल रही है. सोशल मीडिया पर लोग आरोप सिद्ध हुए बिना ही जज और जूरी बने बैठे हुए थे. इतना ही नहीं आर्यन के माता-पिता को भी निशाने पर लिया जा रहा था.

शाहरुख़ खान के बेटे आर्यन खान की तुलना ओलंपिक खिलाड़ी नीरज चोपड़ा और एक्टर आर माधवन के बेटे के साथ की जा रही थी. इसी के बहाने शाहरुख़ खान पर तीखी टिप्पणियां की जा रही थे, उन्हें बताया जा रहा है कि बच्चों की परवरिश कैसे की जा रही और बच्चे कैसे होने चाहिए.

वेदांत से हुई आर्यन की तुलना

लेकिन अब उन्हीं लोगों को अभिनेता आर माधवन ने अप्रत्यक्ष तौर पर करारा जवाब दे दिया है. सोशल मीडिया पर लोग आर्यन की तुलना नीरज चोपड़ा और आर माधवन के बेटे वेदांत के साथ कर रहे थे.

r madhvan

 

एक यूज़र ने अपने ट्वीट में लिखा कि देश के लिए 23 साल के नीरज चोपड़ा ने गोल्ड मेडल जीता लिया है और 23 साल के आर्यन को ड्र’ग्स यूज़ करने के लिए एनसीबी ने गिर’फ्तार किया है.

वहीं एक और यूजर ने लिखा कि कपिल देव ने इंडिया के लिए इस उम्र में वर्ल्ड कप जीता था और आर्यन इस उम्र में ड्र’ग्स ले रहा है. आर्यन और उनके माता-पिता को लेकर भी कई तरह के भद्दे कमेंट्स किये जा रहे है. लोग ड्र’ग्स मामले की आड़ में जनकर गंद’गी फैलाते नजर आए.

इस दौरान आर्यन और उनकी ही उम्र के वेदांत की तुलना भी की गई. वेदांत और माधवन की जनेऊ पहले हुई तस्वीर को शेयर करते हुए एक यूजर लिखता है कि जूनियर नैशनल अक्वैटिक चैम्पियनशिप में आर माधवन के बेटे वेदांत ने 7 मेडल (4 सिल्वर, 3 ब्रॉन्ज़) जीते हैं. देश को वेदांत की उपलब्धि गर्व है लेकिन दूसरी तरफ आर्यन ड्र’ग्स लेते अरेस्ट हुए है.

आर माधवन ने दी ट्रोल्स को सीख

इसमें कोई दोराह नहीं है कि वेदांत की उपलब्धि गर्व का विषय है लेकिन इसे किसी दुसरे को निचा दिखाने के लिए उपयोग किये जाना कहीं से भी उचित नहीं हैं.

आर माधवन ने भी खुद आर्यन की रिहाई के बाद जो ट्वीट करके उन तमाम लोगों को सिख दी है जो उनके नाम से न’फर’ती गंद’गी फैला रहे थे. माधवन ने अपने ट्वीट में लिखा कि भगवान का शुक्र है. एक पिता के तौर पर मैं राहत महसूस कर रहा हूँ कि उन्हें जमानत मिल गई. सब अच्छा और पॉज़िटिव हो.

प्रातिक्रिया दे

आपका ईमेल पता प्रकाशित नहीं किया जाएगा. आवश्यक फ़ील्ड चिह्नित हैं *