NCB के ख़िलाफ़ नवाब मलिक लेकर आये 2 ऑडियो क्लिप, इस बार आरोप बड़े हैं

मुंबई: महाराष्ट्र सरकार के मंत्री नवाब मलिक (NCB) के अधिकारीयों और इन विभाग के काम करने की कार्यप्रणाली पर एक के बाद एक सवाल खड़े कर रहे हैं. बीते कुछ सप्ताह पहले भी जब शाहरुख़ के बेटे आर्यन खान वाला केस हुआ था उसके बाद तब भी राष्ट्रवादी कांग्रेस पार्टी के नेता नवाब मलिक ने NCB और इसके एक अधिकारी समीर वानखेड़े पर काफी कुछ खुलासे किये थे.

NCB के ख़िलाफ़ ऑडियो क्लिप
नवाब मलिक

नवाब मलिक ने आज एक बार फिर से प्रेस कॉन्फ्रेन्स आयोजित की है और उन्होंने 2 ऑडियो क्लिप जारी कर कहा कि NCB के अधिकारी किस तरह से बैकडेट में पंच और पंचनामा बदलती है, इसके सबूत उनके पास इस ऑडियो क्लिप में मौजूद हैं.

NCB पर बैकडेट में पंचनामा बदलने के आरोप

मीडिया कॉन्फ्रेंस में नवाब मलिक ने कहा कि इतनी साडी चीज़ों के बावजूद भी NCB का फर्जीवाड़ा रुकने का नाम नहीं ले रहा है. NCB अधिकारीयों ने जिस तरह के बोगस केस बनाये यहाँ तक कि पांचों से उन्होंने ब्लेंक पेपर पर दस्तखत करवाए और अपने रसूख का इस्तेमाल करते हुए इन्होने लोगों को झूठे मुकदमें में उलझाने का काम किया है.

और अब उन्हीं झूठे मुकदमों को ठीक करने के लिए उन्होंने अपने लोगों को जो इन्होने खड़े किये थे, उन्हें फोन करके बुलाया जाता है कि अब बैक डेट में यानि की पिछली तारिख में उन पंचनामों को सुधारो. इसकी 2 ऑडियो क्लिक उन्होंने प्रेस कॉन्फ्रेंस के दौरान की सभी पत्रकारों के सामने सुनायीं.

उन्होंने मेडी नाम के एक शख्श का नाम लिए जो किसी केस में पंच है, जिसे बाबू नाम के एक अधिकारी ने फ़ोन करके उसको बुलाया और कहा कि तुम आओ और बैक डेट में पंचनामे पर दस्तखत करो. लेकिन मेडी को किसी बात का Dर है, और वो उनके बार-बार बुलाने पर भी वहां जाने के लिए तैयार नहीं है.

समीर वानखेड़े ने लड़के को फोन करने समझाया भी

इसके बाद समीर वानखेड़े उस लड़के को फोन लगाता है कि डरो न वहां चले जाओ, मलिक आगे कहते हैं कि हमें लगता है कि इससे ज़्यादा फर्जीवाड़ा और कुछ नहीं हो सकता है.

नवाब मलिक ने बीते कुछ महीनों पहले भी NCB के काम करने के तौर तरीकों और उनके अधिकारीयों की मनमानी पर सवाल खड़े किये थे.

आर्यन ख़ान की गिरफ्तारी के बाद, नवाब मलिक ने NCB के अधिकारी समीर वानखेड़े और अपने आपको कथित प्राइवेट डिटेक्टिव बताने वाले किरण गोसावी पर एक के बाद एक खुलासे किये थे, जिसकी वजह से किरण गोसावी को जेल तक जाना पड़ा था.

महाराष्ट्र सरकार के मंत्री नवाब मलिक पिछले कुछ महीनों से मीडिया में लगातार चर्चा में बने हुए हैं. हालाँकि नवाब मलिक ने अपनी राजनीति की शुरुआत भले ही समाजवादी पार्टी से की, लेकिन कुछ समय बाद ही ये शरद पवार की पार्टी एनसीपी में शामिल हो गए थे.

About भास्कर राणा

Avatar of भास्कर राणा
भास्कर वरिष्ठ पत्रकार हैं, पिछले 5 वर्षों से विभिन्न न्यूज़ संस्थानों के लिए बतौर लेखक के रूप में अपनी सेवाएं देते हैं. फिलहाल यूसी न्यूज़ हिंदी के लिए एक फ्रीलांसर के रूप में कार्य कर रहे हैं.

Leave a Reply

Your email address will not be published.