रिया चक्रवर्ती और आर्यन खान वाले केस में एक ही खेल खेला जा रहा है? क्या आपने नोटिस की यह समानताएं

मुंबई की आर्थर रोड जे’ल में बंद आर्यन खान की जमानत याचिका पर 20 अक्टूबर को सुनवाई होना है. हालांकि दो बार इससे पहले भी आर्यन को बेल दिलाने का प्रयास किया जा चूका है लेकिन कामयाबी नहीं मिल सकी. मगर इस मामले को देखने के बाद कुछ चीजें काफी हद तक साफ हो रही हैं. पहली चीज एनसीबी की मोडस ऑपरेंडी यानी इस सरकारी संस्था का कामकाज करने का तरीका. आर्यन के ममाले पर जो लोग नजरें बनाए हुए है.

उन्हें अगर आर्यन और रिया चक्रवर्ती के मामले में अंतर करने के लिए कहा जाए तो अंतर बता पाना काफी मुश्किल हो जाएगा, दरअसल इन दोनों ही मामले में काफी समानताएं देखने को मिल रही हैं.

रिया और आर्यन के मामले में समानताएं

पिछले साल अभिनेता सुशांत सिंह राजपूत की मौ’त के मामले में एनसीबी यानी नार्कोटिक्स कंट्रोल ब्यूरो ने अभिनेत्री रिया चक्रवर्ती को गिरफ्ता’र किया था. एनसीबी का आरोप था कि रिया ने सुशांत के लिए ड्र’ग्स खरीदे थे. लेकिन जांच कर रही कई एजेंसियों को रिया के पास से किसी तरह का कोई ड्र’ग्स नहीं मिला था.

aryan khan reha

वहीं इस मामले में एनसीबी ने रिया का मेडिकल टेस्ट भी नहीं कराया था जिससे साफ हो सके कि रिया खुद भी ड्र’ग्स ले रही थी या नहीं. वहीं ईडी ने मामले की जांच पड़ताल करने के लिए रिया चक्रवर्ती का फोन जब्त कर लिया था.

इतना ही नहीं उनके वॉट्सऐप चैट्स भी खंगालने गए, उनके फोन से डिलीट किए हुए चैट्स को रिट्रीव कराया गया. इन्हीं चैट्स को आधार बना कर कहा गया कि रिया ड्रग्स की खरीद-फरोख्त में शामिल थी.

इस बीच रिया को NDPS एक्ट लगाकर गिर’फ्तार कर लिया गया. उन पर सुशांत के लिए ड्र’ग्स खरीदने और उन्हें देने के आरोप लगाए गए. लेकिन अक्टूबर 2020 में बॉम्बे हाई कोर्ट ने रिया चक्रवर्ती को जमानत देते हुए स्पष्ट शब्दों में कहा कि रिया किसी भी ड्र’ग्स डीलिंग चेन का हिस्सा नहीं थी.

Rhea Chakraborty

अब आर्यन के मामले की बात करें तो हमें यहां भी कुछ ऐसा ही देखने को मिलता है. क्रूज शिप पर चढ़ने से पहले ही आर्यन को डिटेन कर लिया गया था. आर्यन पर तलाशी के दौरान किसी तरह का कोई ड्र’ग्स बरामद नहीं हुआ था.

क्या रिया मामले जैसे होगा इस मामले का अं’त

आर्यन के एक दोस्त अरबाज़ मर्चेंट के पास से 6 ग्राम चरस बरामद की गई थी. इस मामले में भी आर्यन खान का मेडिकल टेस्ट नहीं किया गया जिससे यह साफ हो पाता कि उन्होंने ड्र’ग्स का सेवन किया था या नहीं.

sryan khan

एनसीबी ने आर्यन की गिर’फ्तारी भी NDPS एक्ट के तहत की. जब कोर्ट में आर्यन के वकील सतीष मानेशिंदे ने कहा कि जब उनके मुवक्किल के पास से कोई ड्र’ग्स बरामद नहीं किये गए है तो फिर NCB आर्यन की कस्टडी क्यों चाहता हैं?

जिसके जवाब में एनसीबी ने चैट्स की बात कही. एनसीबी ने कहा कि उन्हें आर्यन के फोन में ऐसे कुछ चैट्स मिले है जिनमें ‘शॉकिंग मटीरियल’ हासिल हुआ है, मामले की जांच आगे करने के लिए वो आर्यन की कस्टडी चाहते हैं.

हालांकि अभी तक आर्यन के चैट्स पब्लिक में जारी नहीं किए गए है. अब इंतजार इस बात का है कि इस मामले का अंजाम भी रिया चक्रवर्ती जैसा होगा या इस बार एनसीबी कुछ अलग करके दिखाती हैं.

About Preet Bharatiya

Avatar of Preet Bharatiya
प्रीत हिंदी न्यूज़ कंटेंट राइटर हैं, पत्रकारिता में M.A की योग्यता रखती हैं, फिलहाल ये यूसी न्यूज़ हिंदी के लिए बतौर फ्रीलांसर कार्य कर रही हैं।

Leave a Reply

Your email address will not be published.