प्रधानमंत्री की सुरक्षा में इतनी बड़ी चूक हो गयी और आप बोल रहे हो कि रैली में भीड़ नहीं थी

पंजाब में रैली करने पहुंचे पीएम नरेंद्र मोदी की सुरक्षा में बड़ी चूक का मामला सामने आया है. बुधवार को पीएम मोदी पंजाब दौरे के लिए गए थे, इस दौरान सड़क से गुजर रहे उनके काफिले को कुछ प्रदर्शनकारियों द्वारा रोक लिया गया. जिसके चलते पीएम मोदी वहां 15-20 मिनट रुके रहे. वहीं रास्ता साफ नहीं होने के चलते उन्हें वापस लौटना पड़ा.

इस मामले को लेकर गृह मंत्रालय ने पंजाब सरकार से रिपोर्ट मांगी है. वहीं बीजेपी पंजाब सरकार पर निशाना साधते हुए इसे पंजाब सरकार की बड़ी चूक बता रही है.

पीएम ने रद्द की रैली, लोगों ने कहा- भीड़ नहीं थी

मीडिया रिपोर्ट्स के मुताबिक पीएम मोदी दिल्ली से बठिंडा एयरपोर्ट पहुंचे थे. यहां से उन्हें हेलिकॉप्टर द्वारा हुसैनीवाला में राष्ट्रीय शहीद स्मारक के लिया जाना था. लेकिन ख़राब मौसम और बारिश के चलते पीएम मोदी को 20 मिनट तक इंतजार करना पड़ा.

pm modi in panjab
PM Modi’s car

इसके बाद सड़क मार्ग के जरिए राष्ट्रीय शहीद स्मारक पहुंचे का फैसला किया गया, रास्ते में 2 घंटे का समय लगने वाला था. पंजाब डीजीपी से सुरक्षा प्रबंधों को लेकर हरी झंडी मिलने के बाद पीएम का काफिला सड़क मार्गी से आगे बढ़ा.

लेकिन हुसैनीवाला से करीब 30 किमी पहले पीएम मोदी का काफिला रोक दिया गया, जब काफिला फ्लाईओवर पर पहुंचा तो कुछ प्रदर्शनकारियों ने उनका रास्ता रोक लिया. इसके चलते पीएम के काफिले को 15-20 मिनट तक फ्लाईओवर पर ही रुकना पड़ा. इसे पीएम की सुरक्षा में बड़ी चूक बताया जा रहा है.

एक तरफ जहां केंद्र और राज्य के बीच आरोप-प्रत्यारोप शुरू हो गया है वहीं दूसरी तरफ सोशल मीडिया पर भी इस मामले को लेकर जमकर प्रतिक्रियाएं देखने को मिल रही है. सोशल मीडिया पर यूजर इस मामले को लेकर अलग-अलग प्रतिक्रियाएं दे रहे है.

मोदी भरोसा नाम के एक ट्वीटर यूजर ने अपने ट्वीट में लिखा कि जो रूट सिर्फ पंजाब पुलिस को पता था वो 10 मिनट पहले प्रदर्शनकारियों को पता चल जाता है. प्रदर्शनकारी रूट को ब्लॉक कर देते हैं और उन्हें हटा’या नहीं जाता है. पंजाब के सीएम फोन नहीं उठाते हैं. पीएम 20 मिनट तक फंसे रहते है. यह संयोग नहीं प्रयोग है.

रैली नहीं फ्लॉप शो था जिसमें सिर्फ 600 लोग थे

वहीं कई यूजर का कहना है कि रैली में भीड़ नहीं होने के चलते रैली को रद्द किया गया है और इसका ठीकरा पंजाब सरकार पर फोड़ा जा रहा है. कांगेस युवा नेता बीवी श्रीनिवास ने पीएम की रैली रद्द होने का कारण भीड़ ना होना बताया.

बीवी श्रीनिवास ने लिखा कि आखिरकार पंजाब में रैली नही कर पाए मोदी, किसान विरोधी मोदी के जोरदार स्वगात के लिए खाली कुर्सियां उनका इंतजार कर रही थी, पंजाब पहुचने के बाबजूद किसानों के वि’रोध के चलते रद्द करनी पड़ी रैली.

armaan

इस मामले को लेकर खुद को कांग्रेस कार्यकर्ता बताने वाले अरमान ने लिखा कि बठिंडा से रद्द की गई हेलीकॉप्टर यात्रा, फिरोजपुर के लिए मार्ग तय और साफ था.

उन्होंने आगे लिखा कि रैली एक फ्लॉप शो (600 लोग) थी तो दौरा रद्द करके लास्ट वक्त में हुसैनीवाला जाने का फैसला लिया, जिसके लिए कोई मार्ग निर्धारित नहीं था. किसानों ने सड़क जाम कर दी पीएम नाराज हो गए.

चन्नी की चवन्नी छाप प्लानिंग

himanshu mishra

हिमांशु मिश्रा नाम के एक यूजर ने लिखा कि ये सुरक्षा में चूक नहीं बल्कि बड़ी साजिश है. कैसे प्रदर्शनकारियों को पीएम का रूट पता चला? पंजाब पुलिस ने कहा कि प्रदर्शनकारी 10 मिनट पहले आए थे, तो उन्हें ह’टाया क्यों नहीं गया? चन्नी की चवन्नी छाप प्लानिंग.

न्यूज़ एंकर रुबिका लियाकत ने लिखा कि देश के पीएम की सुरक्षा में इतनी बड़ी चूक हो जाती है और बहाना ये बनाया जाता है कि रैली में भीड़ नहीं थी. अरे तो आप प्रदर्शनकारियों को ह’टा देते उन्हें रैली स्थल तक पहुँचने देते. सच दिख जाता न. आपके 10,000 सुरक्षाकर्मी एक रूट नहीं साफ कर सके, ये स्वस्थ राजनीति नहीं कहलाती.

shayam meera singh

वहीं रुबिका लियाकत के ट्वीट पर कमेन्ट करते हुए एक पत्रकार श्याम मीरा सिंह ने लिखा कि दीदी, छप्पन इंच का सीना था तो जनता के बीच से जाना था, अपनी जनता से कैसा ड’र, अपनी खुद की जनता में जाने से या तो किसी चोर को ड’र लगता है या किसी कायर तानाशाह को.

About Preet Bharatiya

Avatar of Preet Bharatiya
प्रीत हिंदी न्यूज़ कंटेंट राइटर हैं, पत्रकारिता में M.A की योग्यता रखती हैं, फिलहाल ये यूसी न्यूज़ हिंदी के लिए बतौर फ्रीलांसर कार्य कर रही हैं।

Leave a Reply

Your email address will not be published.