पेट्रोल 50 रुपये और डीजल 75 रुपये तक हुआ महंगा, इस जगह इंडियन ऑयल ने बढ़ायीं कीमतें

Petrol Rate Increased: रूस और यूक्रेन के बीच जारी संघर्ष का दुनिया भर में असर पड़ रहा है, कई देशों की अर्थव्‍यवस्‍था और शेयर बाजार प्रभावित हो रहे है. इसके साथ ही अंतर्राष्‍ट्रीय बाजार में कच्‍चे तेल की कीमतों में लगातार इजाफा देखने को मिल रहा है. इसी के साथ घरेलू बाजार में अब ईंधन की कीमतों में बढ़ोत्‍तरी द‍िखाई देना शुरू हो गई है. हाल ही में भारत में ईंधन के दामों में आई तेजी से CNG के दाम भी बढ़ गए है।

अगर आप सीएनजी कार चलाते हैं तो आपके लिए अच्‍छी खबर नहीं है. क्रूड ऑयल और बहुमूल्‍य धातुओं की कीमतों के उछाल के बाद अब सीएनजी की कीमतों में इजाफा हुआ है. माना जा रहा है कि सीएनजी के बाद अब पेट्रोल-डीजल के दामों में भी बढ़ोत्‍तरी हो सकती है. मीडिया रिपोर्ट्स के अनुसार पांच राज्‍यों में चुनाव के चलते काफी वक्‍त से पेट्रोल डीजल की कीमत नहीं बढाई गई है. जबकि क्रूड ऑयल के दाम तेजी से बढ़ रहे है।

petrol price
image source: google

पेट्रोल 50 और डीजल 75 रुपये लीटर हुआ महंगा

वही इंडियन ऑयल कॉर्पोरेशन की श्रीलंका स्थित सब्सिडियरी ने श्रीलंकाई रुपये के अवमूल्यन के कारण पेट्रोल डीजल की कीमतें बढ़ गई हैं. बढ़े हुए दाम शुक्रवार से प्रभाव में आ गए हैं यानी की अब श्रीलंका में पेट्रोल और डीजल के दाम में भारी इजाफा हो गया है।

आपको बता दें यह एक महीने में तीसरी बार है जब कंपनी ने फ्यूल प्रोडक्ट्स के दाम बढ़ाए हैं. श्रीलंकाई इंडियन ऑयल कंपनी ने कहा कि डीजल की खुदरा कीमत 75 रुपये प्रति लीटर और पेट्रोल की 50 रुपये प्रति लीटर बढ़ाई गई है।

श्रीलंका में तेल के दाम बढ़ने की वजह

अब श्रीलंकाई में पेट्रोल 254 रुपये प्रति लीटर तो वही डीजल के 214 रुपये प्रति लीटर मिल रहा है. जिसके चलते लोगों की जेब पर इससे बहुत ज्यादा बोझ बढ़ गया है। लेकिन श्रीलंकाई नागरिक पिछले काफी दिनों से ऐसी ही समस्या का सामना कर रहे है।

एलआईओसी के प्रबंध निदेशक ने बताया कि पिछले सात दिन के अंदर अमेरिकी डॉलर के मुकाबले श्रीलंकाई रुपये में 57 रुपये की गिरावट आई है. जिसके चलते तेल और गैस उत्पादों की कीमतों पर इसका असर पड़ा है. वही यूक्रेन पर रूस के जारी संघर्ष के बाद पश्चिमी देश रूस पर प्रतिबंध लगा रहे हैं इसके कारण भी तेल के दाम बढ़ रहे हैं।

About भास्कर राणा

Avatar of भास्कर राणा
भास्कर वरिष्ठ पत्रकार हैं, पिछले 5 वर्षों से विभिन्न न्यूज़ संस्थानों के लिए बतौर लेखक के रूप में अपनी सेवाएं देते हैं. फिलहाल यूसी न्यूज़ हिंदी के लिए एक फ्रीलांसर के रूप में कार्य कर रहे हैं.

Leave a Reply

Your email address will not be published.