फिर बढे तेल के दाम, राजनाथ ने बताया पेट्रोल-डीजल सस्ता करने का सटीक तरीका

पेट्रोल -डीजल के दामों लगातार आसमान छु रहे है, महंगाई थमने का नाम ही नहीं ले रही हैं. सरकार लगातार बढ़ते दामों पर काबू करने का कोई प्रयास करती नजर नहीं आ रही है. शुक्रवार 22 अक्टूबर को दामों में एक बार फिर से बढ़ोत्तरी हुई, आलम यह है कि पिछले 19 दिनों में पेट्रोल पर 5 रुपए 70 पैसे बढ़ चुके है जबकि डीजल पर पिछले 22 दिनों में 7 रुपए बढ़ चुके है. जिसका असर बाकि की चीजों पर भी पड़ रहा है और चीजों के दामों पर लगातार बढ़ोत्तरी होती जा रही हैं.

सोशल मीडिया पर पेट्रोल-डीजल के बढ़ते दामों का कारण और उसका निवारण चर्चा में बना हुआ है, दाम बढ़ने का कारण और निवारण कोई और नहीं बल्कि खुद भाजपा के बड़े और कद्दावर नेता राजनाथ सिंह बता चुके है. हालांकि यह अलग बात है कि यह निवारण उन्होंने साल 2011 में विपक्ष में रहते हुए बताया था.

राजनाथ ने बताया था पेट्रोल सस्ता करने का रामबाण

लेकिन उनके इस निवारण पर इन दिनों सोशल मीडिया के यूजर खूब चर्चा कर रहे है. राजनाथ सिंह का एक फेसबुक पोस्ट तेजी से वायरल हो रहा है. 2011 में किये गए इस पोस्ट में उन्होंने तेल के बढ़ते दामों का निवारण बताया था.

Rajnath Singh

दरअसल अंतर्राष्ट्रीय बाजार में कच्चे तेल के दामों में तेजी से बढ़ोत्तरी हो रही है जिसका सीधा असर आम जनता की जेब पर भी पड़ रहा है. फ़िलहाल इसमें राहत के भी कोई आसार नजर नहीं आ रहे है क्योंकि अभी इसमें और उछाल की संभावनाएं जताई जा रही है. मौजूदा वक्त में कच्चा तेल 85 डॉलर प्रति बैरल है जबकि यह 90 डॉलर तक पहुंच सकता है.

राजनाथ सिंह मौजूद समय में देश के रक्षा मंत्री है, वो बढ़ते पेट्रोल-डीजल के दामों का दर्द समझते है. इसीलिए ही उन्होंने इसका कारण और इलाज दोनों बताए थे, हालांकि उन्होंने यह 2011 में बताए थे. यह वह दौर था जब देश में यूपीए की सरकार थी जिसका नेतृत्व मनमोहन सिंह कर रहे थे और बीजेपी विपक्ष में थी.

इसी दौरान राजनाथ सिंह ने यूपीए सरकार को निशा’ने पर लेते हुए एक पोस्ट किया था जो अब वायरल हो रहा है. उन्होंने लिखा था कि पेट्रोलियम उत्पाद पर केंद्र सरकार 32-35 % और राज्य सरकार 20-25 % टैक्स वसूल करती हैं.

अब की बार पेट्रोल 200 पार?

उन्होंने आगे लिखा कि केंद्र सरकार जिस इंटरनेशनल बाजार में क्रूड ऑयल की कीमत 120 डॉलर प्रति बैरल होने का हवाला दे रही है, उस पर अगर 30 फीसदी उत्पादन खर्च भी जोड़ दे तो देश में पेट्रोल 35-40 रुपये लीटर ही होना चाहिए.

पेट्रोल-डीजल के बढ़ते दामों के बीच राजनाथ सिंह का यह पोस्ट खूब वायरल हो रहा है. लोग इसका स्क्रीनशॉट शेयर करते हुए सरकार को आइना दिखा रहे हैं.

एक ट्विटर यूज़र ने लिखा कि अब की बार पेट्रोल 200 पार. जरा सोचिए जब बाजार में कच्चा तेल 120 रुपए प्रति बैरल के दाम को टच करेगा तब भारत में पेट्रोल के दाम क्या होंगे? 200 रुपए प्रति लीटर?

About Preet Bharatiya

Avatar of Preet Bharatiya
प्रीत हिंदी न्यूज़ कंटेंट राइटर हैं, पत्रकारिता में M.A की योग्यता रखती हैं, फिलहाल ये यूसी न्यूज़ हिंदी के लिए बतौर फ्रीलांसर कार्य कर रही हैं।

Leave a Reply

Your email address will not be published.