रूस में शुरू हुआ पुतिन के यूक्रेन के साथ संघर्ष के फैसला का विरोध, 1700 रूसी नागरिक गिरफ्तार

यूक्रेन और रूस के बीच चल रहे संघर्ष पर दुनिया भर में चिंता देखी जा रही है, इसी बीच अब रूस के राष्ट्रपति पुतिन द्वारा यूक्रेन पर किये गए हमले के फैसले का विरोध रूस में ही शुरू हो गया है. रूस की राजधानी मॉस्को समेत 53 शहरों में इस अशांति के खिलाफ बड़े पैमाने पर विरोध प्रदर्शन किये जा रहे है. मीडिया रिपोर्ट्स के अनुसार रुसी पुलिस अब तक 1700 प्रदर्शनकारियों को हिरासत में ले चुकी हैं.

लेकिन इसके वाबजूद भी प्रदर्शन थमने का नाम नहीं ले रहा है बल्कि प्रदर्शन लगातार तेज होता जा रहा है. लोग घरों से निकल कर विरोध में हिस्सा ले रहे हैं.

यूक्रेन से सं’घर्ष का विरोध

खबरों के अनुसार प्रदर्शन में बड़ी संख्या में ऐसे लोग भी शामिल हैं, जिनके परिवार या रिश्तेदार इस वक्त संक’टग्रस्त यूक्रेन में फंसे हुए हैं. प्रदर्शनकारी बातचीत के दौरान दोनों देशों द्वारा मामला सुलझाया जाए, ऐसी मांग करते दिख रहे है.

Russia opposes

खबरों के अनुसार मॉस्को के पुश्किन चौराहे पर गुरुवार को हजारों की तादात में लोग इकट्ठा हुए.प्रदर्शनकारियों के हाथों में No to war के नारे लिखे हुए बैनर-पोस्टर नजर आए.

प्रदर्शन काफी वक्त तक चलता रहा, बाद में रूस की पुलिस मौके पर पहुंची और भीड़ को इतर-उतर करने लगी. इस दौरान प्रदर्शन में शामिल हुए करीब 900 लोगों को गिरफ्तार कर लिया.

कुछ इसी तरह का नजारा देश के सबसे बड़े शहरों में से एक सेंट पीटर्सबर्ग शहर में भी देखने को मिला. बताया जा रहा है कि यहां करीब 1000 लोगों ने सडकों पर उतरकर इस अशांति का विरोध किया.

इस दौरान रुसी पुलिस ने करीब 400 लोगों को गिर’फ्तार किया. मीडिया रिपोर्ट्स के मुताबिक रूस के अन्य 51 और शहरों से 400 लोगों को पुलिस द्वारा हिरासत में लिया गया है. रूस की संसद के बाहर भी बड़ी संख्या में प्रदर्शनकारी जमा हुए.

बताया जा रहा है कि यूक्रेन पर रुसी हम’ले से देश के ज्यादातर नागरिक संशय में थे. उन्हें लगा था कि यु’द्ध नहीं होगा लेकिन राष्ट्रपति पुतिन ने रुसी सेना को यूक्रेन पर चढ़ाई के आदेश दे दिए.

इसके बाद कुछ ही समय में यूक्रेन से तबाही के मंजर देखने को मिलने लगे. सामने आई तस्वीरें बेहद ही हिला देने वाली रही. जिसके बाद रूस के कई नागरिक सड़कों पर उतर कर इस संघर्ष के खिलाफ अपनी आवाज़ बुलंद करते नजर आए.

भ्रष्टाचार छिपाने की कोशिश

आपको बता दें कि हाल ही में विरोध-प्रदर्शन को लेकर रूस ने कानूनों को सख्त किया है और इस दौरा लोगों की सामूहिक गिरफ्तारी को मंजूरी प्रदान की गई है.

Vladimir Putin

रूस ने यूक्रेन परऐसे वक्त पर ह’मला किया है जब रूस के विपक्षी नेताओं में से ज्यादातर की या तो ह’त्या कर दी गई है या फिर उन्हें जे’ल भेज दिया गया है.

पुतिन के खिलाफ प्रदर्शनों का नेतृत्व कर चुके एलेक्सी नवल्नी इस वक्त जे’ल में ढाई साल की सजा काट रहे हैं. उन्होंने इस मामले पर एक वीडियो जारी करके कहा कि पुतिन ने भ्रष्टाचार को छिपाने के रूस को इस संघर्ष में झोंका है. वह इसकी आड़ में लोगों को बेवकूफ बनाने का प्रयास कर रहे हैं.

About Preet Bharatiya

Avatar of Preet Bharatiya
प्रीत हिंदी न्यूज़ कंटेंट राइटर हैं, पत्रकारिता में M.A की योग्यता रखती हैं, फिलहाल ये यूसी न्यूज़ हिंदी के लिए बतौर फ्रीलांसर कार्य कर रही हैं।

Leave a Reply

Your email address will not be published.