ईवीएम घमासान के बीच SP ने की EC से की बड़ी मांग, क्या ऐसा करने से लोगों का बढ़ेगा भरोसा

उत्‍तर प्रदेश में विधानसभा चुनाव संपन्‍न हो चुका है, इसके साथ ही अब नतीजों का इंतजार है और यह इंतजार अब महज एक दिन का रह गया है. लेकिन यह दिन राजनीतिक पार्टियों के लिए काफी बढ़ा होता जा रहा है. वो भी खास तौर पर विपक्ष के लिए. दरअसल एग्जिट पोल से चिंता में बैठे विपक्ष के सामने नई चिंता आ गई है और बडी मुश्किल है ईवीएम मशीनों में हेराफेरी का डर.

वाराणसी से ईवीएम को लेकर सामने आए सनसनीखेज मामला के बाद यह डर लगातार बना हुआ है. यह मामला पूरे सूबे में चर्चा में बना हुआ है.

सपा ने उठाई वेबकास्टिंग की मांग

आपको बता दें कि वाराणसी में एक ट्रक में EVM लेकर जाने के मामले का खुलासा हुआ है जिसके बाद विपक्षी पार्टियां सक्रिय हो गई है. विपक्ष का आरोप है कि भाजपा चुनाव में धांधली का प्रयास कर रही है. इसी के साथ विपक्ष ने स्ट्रॉन्ग रूम की निगरानी करना शुरू कर दी है.

election commission in up

इसी बीच समाजवादी पार्टी ने चुनाव आयोग से एक महत्‍वपूर्ण मांग की है. सपा की मांग है कि चुनाव आयोग मतगणना की वेबकास्टिंग (Webcasting) कराने का इंतजाम करें जिससे मतगणना को लाईव देखा जा सके.

इसके साथ ही चुनाव आयोग यह सुनिश्चित करें कि मतगणना पारदर्शी, स्वतंत्र और निष्पक्ष रूप से संपन्न हो सके. सपा ने वेबकास्टिंग की मांग को लेकर मतगणना से ठीक एक दिन पहले चुनाव आयोग को एक पत्र भी लिखा है.

इससे पहले समाजवादी पार्टी ने एक ट्वीट में बनारस के कमिश्नर के हवाले से लिखा कि EVM मूवमेंट को लेकर चुनाव आयोग के प्रोटोकॉल का पालन नहीं हो रहा है. ईवीएम को लेकर कई जिलों में हेराफेरी की खबरें सामने आ रही है.

नहीं किया जा रहा प्रोटोकॉल का पालन

सपा ने आगे कि ये सब किसके इशारे पर किया जा रहा है? क्या अधिकारियों पर सीएम ऑफिस की तरफ से दबाव बनाया जा रहा है?

rigging of votes

आपको बता दें कि समाजवादी पार्टी के राष्ट्रीय अध्यक्ष अखिलेश यादव ने मंगलवार को अचानक प्रेस कॉन्फ्रेंस बुलाई और यूपी में मतगणना को लेकर चल रही धांधली को लेकर सूबे की सरकार पर प्रशासनिक मशीनरी का इस्‍तेमाल करने के आरोप लगाए.

 अखिलेश यादव ने इसे लेकर एक ट्वीट भी किया, जिसमें उन्‍होंने लिखा कि वाराणसी में एक ट्रक में EVM पकड़ी गई है. उन्होंने कहा कि कई जिलों से ईवीएम में गड़बड़ी के मामले सामने आ रहे है. इसके साथ ही उन्‍होंने सपा नेता और कार्यकर्ताओं से ईवीएम स्ट्रांग रूम पर सतर्कता बढ़ाने के लिए कहा.

About Preet Bharatiya

Avatar of Preet Bharatiya
प्रीत हिंदी न्यूज़ कंटेंट राइटर हैं, पत्रकारिता में M.A की योग्यता रखती हैं, फिलहाल ये यूसी न्यूज़ हिंदी के लिए बतौर फ्रीलांसर कार्य कर रही हैं।

Leave a Reply

Your email address will not be published.