उत्तर प्रदेश चुनाव: छठे चरण के मतदान में सीएम योगी आदित्यनाथ समेत इन दिग्गज नेताओं की प्रतिष्ठा लगी दांव पर

उत्तर प्रदेश:- राज्‍य में विधानसभा चुनाव 2022 अब अपने अंतिम चरण की त‍रफ बढ़ रहा है, कुल सात में से पांच चरणों का मतदान हो चुका है. बाकि बचे हुए 2 चरणों में से छठे चरण का मतदान 3 मार्च को होना है जबकि अंतिम चरण के लिए वोटिंग 7 मार्च को होना है. छठवें राउंड का मतदान बेहद अहम है, क्‍योंकि इस चरण में सीएम योगी आदित्यनाथ समेत कई दिग्‍गजों की प्रतिष्‍ठा दांव पर लगी हुई है.

गृह क्षेत्र गोरखपुर सदर सीट से योगी की प्रतिष्ठा दांव पर

यूपी की सबसे हॉट सीट गोरखपुर सदर को माना जा रहा है, क्‍योंकि इस सीट से सुबे के मौजूदा मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ मैदान में है, छठे चरण के चुनाव में सीएम योगी की प्रतिष्ठा दांव पर लगी हुई है.

yogi from gorkhpur
Yogi Adityanath

योगी गोरखपुर से कई बार सांसद रह चुके है, 2017 में सूबे के मुख्यमंत्री बनने से पहले वह यहां से सांसद ही थे. योगी पहली बार विधायकी के लिए गोरखपुर सदर से मैदान में उतरे है.

योगी को चुनौती देने के लिए आजाद समाज पार्टी से चंद्रशेखर आजाद मैदान में उतरे है, इसके आलावा समाजवादी पार्टी की सुभावती शुक्ला प्रत्‍याशी हैं. बीएसपी ने ख्वाजा शमसुद्दीन को और कांग्रेस से चेतना पांडे को टिकट दिया है.

विनय शंकर तिवारी चिल्लूपार सीट से

हरिशंकर तिवारी गोरखपुर की चिल्लूपार विधानसभा सीट से करीब 23 वर्ष तक विधायक रहे. पिछली बार इस सीट से उनके बेटे विनय शंकर तिवारी विधायक बने. इस बार वह फिर से चुनावी मैदान मेंं है. बीजेपी ने उनके राजेश तिवारी को टिकट दिया है जबकि कांग्रेस से सोनिया शुक्ला और बसपा से राजेंद्र सिंह चुनाव लड़ रहे हैं.

रुद्रपुर से कांग्रेस प्रवक्ता अखिलेश प्रताप सिंह

देवरिया जिले की रुद्रपुर विधानसभा सीट से कांग्रेस के राष्ट्रीय प्रवक्ता अखिलेश प्रताप सिंह की प्रतिष्ठा दांव पर लगी हुई है. उनका मुकाबला है बीजेपी के मौजूदा विधायक और सूबे के राज्य मंत्री जय प्रकाश निषाद से. इस सीट पर सपा ने भुवाल निषाद को प्रत्याशी बनाया है.

देवरिया सदर सीट से शलभ मणि त्रिपाठी की साख पर दांव

सीएम के सूचना सलाहकार शलभ मणि देवरिया सदर सीट से चुनाव लड़ रहे है, उनका मुकाबला बीजेपी के पूर्व दिवंगत विधायक जनमेजय सिंह के बेटे अजय प्रताप सिंह उर्फ पिंटू से है. पिंटू समाजवादी पार्टी के उम्मीदवार है. यहां से बीएसपी ने रामशरण सिंह और कांग्रेस ने पुरुषोत्तम नारायण सिंह पर दांव लगाया हैं.

राम अचल राजभर अकबरपुर से अजमा रहे किस्मत

हाल ही में सपा में आए राम अचल राजभर अंबेडकर नगर जिले की अकबरपुर विधानसभा क्षेत्र से एक बार फिर से मैदान में है. वो इससे पहले पांच बार इस सीट से विधायक चुके गए है लेकिन बसपा के टिकट पर और इस बार वह सपा के टिकट से मैदान में है. बीएसपी ने यहां से चंद्र प्रकाश वर्मा को उतारा है.

Ajay Kumar Lallu
कांग्रेस प्रदेश अध्यक्ष अजय कुमार लल्लू

संसदीय कार्य मंत्री उपेंद्र तिवारी की साख दांव पर

बलिया के फेफना विधानसभा से भाजपा के खेल और संसदीय कार्य मंत्री उपेन्द्र तिवारी चुनाव लड़ रहे है. वह अपनी जीत की हैट्रिक लगाने की फिराक में है लेकिन उन्हें सपा के उम्मीदवार और पूर्व मंत्री अंबिका चौधरी से कड़ी टक्कर मिल रही है.

भाजपाई से सपाई हुए स्वामी प्रसाद मौर्य की प्रतिष्ठा पर दांव

कुशीनगर की फाजिलनगर विधानसभा सीट से समाजवादी पार्टी के उम्मीदवार और पूर्व मंत्री स्वामी प्रसाद मौर्य की सियासत दांव पर लगी है. योगी सरकार के पूर्व कैबिनेट मंत्री ने हाल ही में सपा ज्वाइन की है. उनका मुकाबला इसी सीट से दो बार विधायक रहे गंगा सिंह कुशवाहा के बेटे सुरेंद्र कुशवाहा से है. वहीं बीएसपी ने सपा के बागी इलियास अंसारी को टिकट दिया है.

Swami Prasad Maurya

इसके आलावा छठे चरण के मतदान में कांग्रेस के प्रदेश अध्यक्ष अजय कुमार लल्लू कुशीनगर की तमकुही विधानसभा से मैदान में है. पथरदेवा विधानसभा सीट से सूर्य प्रताप शाही चुनाव लड़ रहे है.

जबकि कटेहरी से लालजी वर्मा पर भी सभी की निगाहें है. बलिया नगर से दयाशंकर सिंह और महराजगंज जिले की नौतनवा विधानसभा सीट से बसपा के टिकट पर अमन मणि त्रिपाठी मैदान में है.

About Preet Bharatiya

Avatar of Preet Bharatiya
प्रीत हिंदी न्यूज़ कंटेंट राइटर हैं, पत्रकारिता में M.A की योग्यता रखती हैं, फिलहाल ये यूसी न्यूज़ हिंदी के लिए बतौर फ्रीलांसर कार्य कर रही हैं।

Leave a Reply

Your email address will not be published.