ये सरकारी अधिकारी नहीं बीजेपी के कार्यकर्ता है, इन्हें तुरंत हटाया जाए तभी हो सकता है…

उत्तर प्रदेश समेत पांच राज्यों में होने वाले विधानसभा चुनावों की तारीखों का ऐलान हो चूका है. चुनाव आयोग ने पांच राज्यों में विधानसभा चुनाव के लिए सात चरणों के चुनावी कार्यक्रम का ऐलान कर दिया है. पांच राज्यों में विधानसभा चुनाव 7 फरवरी से 7 मार्च के बीच होंगे. वहीं चुनाव आयोग के तारीखों के ऐलान के अगले ही दिन समाजवादी पार्टी ने चुनाव आयोग को एक पत्र लिया है.

सपा ने आयोग को लिखे पत्र में कहा है कि राज्य में निष्पक्ष चुनाव के लिए सूबे में तैनात अपर मुख्‍य सचिव (गृह) समेत कई प्रशासनिक और पुलिस अधिकारियों को उनके मौजूदा पदों से तत्काल हटा’या जाना चाहिए.

सपा ने लगाई चुनाव आयोग से गुहार

समाजवादी पार्टी के मुख्य प्रवक्ता और राष्ट्रीय सचिव राजेन्द्र चौधरी द्वारा चुनाव आयोग को यह पत्र लिखा गया है. यूपी प्रशासन में उप मुख्य सचिव अवनीश अवस्थी, अतिरिक्त मुख्य सचिव सूचना नवनीत सहगल है.

akhilesh yadav up

वहीं एडीजी लॉ एंड ऑर्डर के पद पर प्रशांत कुमार तैनात है और एडीजी पद पर अमिताभ यश कार्यरत हैं. ये फ़िलहाल सूबे में बीजेपी सरकार के कार्यकर्ता के तौर पर कार्य कर रहे हैं.

इसलिए इस सभी को तत्काल प्रभाव से ह’टा दिया जाए. इन्हें हटाए बिना सूबे में निष्पक्ष, स्वतंत्र, निर्भीक और प्रभाव मुक्त चुनाव करा पाना संभव नहीं है.

आपको बता दें कि समाजवादी पार्टी ने अपने पत्र में सूबे के अपर मुख्‍य सचिव (गृह) पद पर तैनात अवनीश कुमार अवस्‍थी को ‘उप मुख्‍य सचिव’ लिखा है जबकि खास बात यह है कि सूबे में उप मुख्‍य सचिव का कोई पद ही नहीं है.

पत्र में कहा गया है कि समाजवादी पार्टी ये मांग करती है कि उपरोक्त सभी पदाधिकारियों को तत्काल प्रभाव से उनके वर्तमान पदों से ह’टाया जाए जिससे सूबे में निष्पक्ष, स्वतंत्र और निर्भय चुनाव कराए जा सके.

आपको बता दें कि अखिलेश यादव ने तारीखों के ऐलान के बाद कहा कि चुनाव आयोग द्वारा जो शर्तें तय की गई है उनका पालन होगा, नियमों के मुताबिक प्रचार भी किया जाएगा लेकिन ये सख्ती सरकार के लिए भी होनी चाहिए.

akhilesh yadav up election

विज्ञापनों पर हो रहा सरकारी पैसे का इस्तेमाल

उन्होंने आगे कहा कि सूबे की बीजेपी नीत सरकार यहां मनमानी करेगी. पिछले चुनाव में भी देखा गया कि सरकर किसी भी नियम को नहीं मान रही थी इसलिए चुनाव आयोग को ये निगरानी करनी होगी कि सत्ता में बैठे लोग भी उनके नियमों का पालन करें.

अखिलेश ने कहा था कि चुनाव आयोग को यह सुनिश्चित करना होगा कि सभी पार्टियों को बराबर अवसर मिले. बीजेपी के पास पहले से बहुत इन्फ्रास्ट्रक्चर है और फिर वो सरकार में भी है. खर्चे के मामले में भी बीजेपी सबसे आगे है. बीजेपी विज्ञापनों पर सरकारी पैसे खर्च कर रही है.

About Preet Bharatiya

Avatar of Preet Bharatiya
प्रीत हिंदी न्यूज़ कंटेंट राइटर हैं, पत्रकारिता में M.A की योग्यता रखती हैं, फिलहाल ये यूसी न्यूज़ हिंदी के लिए बतौर फ्रीलांसर कार्य कर रही हैं।

Leave a Reply

Your email address will not be published.