अभी-अभी: यूक्रेन की राजधानी कीव में तबाही, टीवी टावर उड़ाया चैनलों का प्रसारण ठप, कई धमा’के – Russia Ukraine News Live

कीव, एजेंसियां: अमनपसंद लोगों के लिए यह खबर बिलकुल भी अच्छी नहीं है, रूस ने यूक्रेन की राजधानी और यूक्रेन के सबसे बड़े शहर खारकीव में बेतहाशा तबाही मचाना चालू कर दी है. मीडिया में खबरों के अनुसार अभी-अभी पता चला है कि रूस की सेना द्वारा यूक्रेन का सबसे बड़ा टीवी नेटवर्क टावर उड़ा दिया गया है, जिससे टीवी चैनलों का प्रसारण पूरी तरह से बंद हो चुका है. अब आम लोगों के लिए समाचार या किसी तरह की खबर देखने के लिए सिर्फ इंटरनेट की व्यवस्था ही बाकी है. हालांकि यहाँ पहले से ही इंटरनेट कहीं-कहीं ही चल रहा है.

Advisory issued by Embassy of India in Ukraine

आपको बता दें कि आज सुबह ही यूक्रेन में भारत के दूतावास द्वारा एडवाइजरी जारी कर दी गई थी. जो भारतीय प्रवासियों के लिए थी. यूक्रेन में भारतीय दूतावास ने अपने लोगों को ये ज़रूरी सूचना दी थी के वे सभी तुरंत राजधानी छोड़ दें. कहीं भी कैसे भी जैसे जिस हाल में हों वहां से फ़ौरन निकल जाएं.

भारतीय दूतावास ने जब इस सूचना को Tweet किया था तब हमारे यहाँ दिन का समय था. उनके इस तरह के ट्वीट करने के बाद से ही एक बड़ा अनुमान लगाया जा रहा था कि आज शायद रूस द्वारा कोई बड़ा कदम उठाया जाएगा, जिसकी पूर्व सूचना शायद उन्हें पहले से ही दी गई हो.

Kharkiv city targeted by Russian army

रूसी सेना द्वारा जिस शहर खारकीव को निशाना बनाया गया है वह यूक्रेन का दूसरा सबसे बड़ा शहर है. बताया जा रहा है कि टीवी चैनलों का प्रसारण करने वाले बड़े-बड़े टावरों के साथ-साथ कुछ रिहायशी इलाके और एक बड़ा अस्पताल भी हताहत हुआ है. इसके अलावा कुछ लोगों की जान जाने के भी समाचार हैं.

विदेश मंत्रालय द्वारा जानकारी दी गई है कि सुबह यू शहर को छोड़ने इस सूचना के बाद सभी भारतीयों ने उस जगह को छोड़ दिया था.

Attack on TV tower in Kharkiv city

समाचार है कि यूक्रेन में यु’द्ध के बीच प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने एक उच्चस्तरीय बैठक बुलाई है, जिसमें वहां के छात्रों को लाने पर चर्चा की जाएगी. पीएम मोदी की 48 घंटे में यह चौथी अहम बैठक है.

यूक्रेन से भारतीय छात्रों को अपने वतन वापस लाने के लिए 26 जुलाई के फ्लाइट की व्यवस्था की गई है इसके अलावा विदेशी सचिव द्वारा बताया गया है कि रूस और यूक्रेन के दूतावास की सरकारों को भी कहा गया है कि भारतीयों को निकालने के लिए सुरक्षित रास्ता किया जाए.

इस मामले पर कुछ हल निकालने के लिए, यूक्रेन के राष्ट्रपति जेलेंस्की ने अमेरिकी राष्ट्रपति जो बिडेन से बात की है. अब देखना बाकी है कि यूक्रेन की मदद के लिए कौन-कौन से देश आगे आते हैं. फिलहाल यूक्रेन की हालत हर आने वाले घंटों और दिनों में बद से बदतर ही होती जा रही है, और उनके एक से बढ़कर एक खूबसूरत शहर धीरे-धीरे तबाह होते जा रहे हैं.

About भास्कर राणा

Avatar of भास्कर राणा
भास्कर वरिष्ठ पत्रकार हैं, पिछले 5 वर्षों से विभिन्न न्यूज़ संस्थानों के लिए बतौर लेखक के रूप में अपनी सेवाएं देते हैं. फिलहाल यूसी न्यूज़ हिंदी के लिए एक फ्रीलांसर के रूप में कार्य कर रहे हैं.

Leave a Reply

Your email address will not be published.