Fact Check: हरदोई की ग्राम प्रधान वैशाली यूक्रेन से लौटते ही हुई गि’रफ्तार? जाने वायरल तस्‍वीर का सच

रूस और यूक्रेन में जारी भारी संघर्ष के बीच हजारों भारतीय छात्र फंसे हुए है. जिसमें में कई भारतीयों को निकाल लिया गया है. भारत सरकार यूक्रेन से भारतीयों को निकालने के लिए पुरा जोर लगा रही है. संघर्ष की शुरूआत के साथ ही भारतीय छात्र मुश्किलों में आ गए थे, ऐसे में उन्‍होंने मदद के लिए सोशल मीडिया के जरिए सरकार से गुहार लगाई. कई छात्रों ने वीडियो शेयर से भारत सरकार से मदद की अपील की.

इस बीच कई छात्रों के वीडियो सोशल मीडिया पर खूब वायरल हुए. ऐसा ही एक वीडियों यूक्रेन में मेडिकल की पढ़ाई करने गई हरदोई की वैशाली यादव का भी वायरल हुआ जिसमें वह मदद की गुहार लगा रही थी.

दावा- हरदोई की ग्राम प्रधान गिरफ्तार?

सोशल मीडिया पर वैशाली के वीडियों को लेकर कई तरह के दावे किए जा रहे हैं. वैशाली ने अपने वीडियों में सरकार से मदद मांगते हुए केंद्र सरकार की नीतियों पर भी सवाल खड़े किए थे.

Vaishali yadav return

उन्‍होंने दावा करते हुए कहा था कि यूक्रेन में फंसे भारतीयों के लिए भारत सरकार वैसी मदद नहीं कर रही है, जैसी उन्‍हें करना चाहिए थी.

वहीं वीडियों सामने आने के बाद यह खुलासा हुआ कि वैशाली यादव हरदोई के सांडी विकास खण्ड की तेरा पुरसौली की ग्राम प्रधान हैं. इसके साथ ही दावा किया गया कि उन्‍होंने घर में रहकर ही ये वीडियों शूट किया है और वह यूक्रेेन में नहीं बल्कि भारत में ही है.

इसके साथ ही कहा गया कि उनके पिता समाजवादी पार्टी के नेता हैं और उन्‍होंने ही वैशाली से ये वीडियों मोदी सरकार की बदनामी करने के मकसद से बनवाया था.

क्‍या वैशाली सच में हुई गिरफ्तार

लेकिन बाद में खुलासा हुआ कि प्रधान वैशाली सच में यूक्रेन में ही फंसी हुई है जिन्‍हें हाल ही भारत वापस लाया गया है. इस बीच लोगों ने प्रधान रहते वैशाली के विदेश में पढ़ाई करने पर भी सवाल उठाए.

Vaishali arrested

इस बीच एक और अफवाह फैलाई जाने लगी है. सोशल मीडिया पर कुछ लोग एक तस्‍वीर शेयर करते हुए दावा कर रहे है कि वैशाली ने प्रधान रहते यूक्रेन में पढ़ाई कर रही थी और इसका खर्चा उनके सरकारी खाते से पैसे निकल कर किया जा रहा था.

पड़ताल में झुठा निकला दावा

इसी के चलते अब उन पर कार्रवाई हो गई है. इसके साथ जो तस्‍वीर शेयर की जा रही है उसमें एक महिला को पुलिस ने गिर’फ्तार किया है. लोगों का दावा है कि वैशाली को प्रधानी में हेराफेरी के लिए गिरफ्तार कर लिया गया है.

Vaishali yadav return from ukrain

लेकिन फैक्‍ट चैक में यह दावा पुरी तरह से गलत पाया गया. असल में फोटो में दिख रही ये महिला वैशाली नहीं बल्कि वो राजस्थान में गिरफ्तार की गई लेडी डॉन कमला चौधरी है जिसे ह’थियार लहरा कर धम’की देने के मामले में गिर’फ्तार किया गया था.

About Preet Bharatiya

Avatar of Preet Bharatiya
प्रीत हिंदी न्यूज़ कंटेंट राइटर हैं, पत्रकारिता में M.A की योग्यता रखती हैं, फिलहाल ये यूसी न्यूज़ हिंदी के लिए बतौर फ्रीलांसर कार्य कर रही हैं।

Leave a Reply

Your email address will not be published.