मामला फंस गया: शादी के वक्त मुसलमान थे, नौकरी के फार्म में दलित हो गए, रिजर्व कोटे से अफसर बन गए

शाहरुख़ खान के बेटे आर्यन खान को ड्र’ग्स मामले में एनसीबी ने गिरफ्ता’र किया है. एनसीबी ने मुंबई से गोवा जा रहे क्रूज़ पर रेड मारकर आर्यन समेत करीब 20 लोगों को गिर’फ्तार किया था. वहीं यह मामला इसके बाद से ही विवा’दों में बना हुआ है. इस मामले को लेकर महाराष्ट्र सरकार के मंत्री और एनसीपी के नेता नवाब मलिक ने एनसीबी और एनसीबी अधिकारी समीर वानखेड़े के खिलाफ मोर्चा खोल रखा है.

हाल ही में नवाब मलिक ने वानखेड़े पर अपना धर्म छुपाने का आरोप लगाया है. इसके बाद अब नवाब मलिक ने क्रूज़ ड्र’ग्स छापे को फेक करार दिया है. इसके साथ ही उन्होंने आरोप लगाया है कि रेड के दौरान क्रूज पर एक इंटरनेशनल ड्रग लीडर और उनकी गर्लफ्रेंड भी मौजूद थे.

शादी के वक्त मुस्लिम, नौकरी के फार्म में दलित?

लेकिन एनसीबी के जोनल डायरेक्टर समीर वानखेड़े और उनकी टीम ने उन्हें वहां से निकल जाने दिया. नवाब मलिक का कहना है कि क्रूज पर एक इंटरनेशनल ड्रग डीलर अपनी प्रमिका के साथ मौजूद था, उसे वहां पार्टी में नाचते हुए देखा गया था.

sameer wankhede

एनसीबी टीम को ड्र’ग माफि’या के वहां होने की जानकारी दी लेकिन इसके बाद भी टीम ने उसे अनदेखा कर दिया. उन्होंने आगे लिखा कि वो दाढ़ी वाला लड़का था, यह दाढ़ीवाला हैं कौन? इस बारे में जल्द ही जानकारी दूंगा.

वानखेड़े ने हमेशा ही गोवा में ड्रग रैकेट को लेकर अपनी आंखे बंद कर रखी हैं. नवाब ने कहा कि मैं क्रूज रेड मामले की जांच को पटरी से उतारने का प्रयास कर रहा हूँ, इस तरह के आरोप मुझ पर लगाए जा रहे है. लेकिन मेरा काम सच सामने लाना हैं.

इसके साथ ही एनसीपी नेता ने साल 2006 में हुई वानखेड़े की पहली शादी का निकाहनामा भी एक ट्वीट करके शेयर किया. इसे लेकर दावा किया जा रहा है कि समीर शादी के वक्त मुसलमान थे.

ऐसे में अब लोग सवाल उठा रहे है कि अगर वो शादी के वक्त मुसलमान थे तो फिर नौकरी हासिल करने के दौरान दलित कैसे हो गए और एससी सीट से आरक्षण हासिल करके आखिर कैसे IRS अफसर बन गए.

वहीं इस मामले को लेकर बिहार के पूर्व मुख्यमंत्री जीतन राम मांझी ने नवाब मलिक के ट्वीट पर प्रतिक्रिया देते हुए कहा कि अगर समीर शादी के वक्त मुस्लिम थे तो अब दलित कैसे बन गए? उन्होंने कहा कि लोग आरक्षण की डकै’ती करके एससी, एसटी और अन्य पिछड़ा वर्ग का हक़ छीन रहे हैं.

धर्म का मुद्दा उठाना उद्देश्य नहीं

नवाब मलिक ने अपने ऊपर मामले की दिशा को भट’काने के लग रहे आरोपों पर कहा कि मैं साफ कर देना चाहता हूँ कि मैं समीर दाऊद वानखेड़े को उजागर करके उनके धर्म का मुद्दा नहीं उठाना चाहता हूँ.

उन्होंने आगे कहा कि मैं उन पर गलत साधनों और फर्जी जाति प्रमाण पत्र का उपयोग करके IRS की नौकरी पाने का मामला प्रकाश में लाना चाहता हूँ, इससे एक योग्य अनुसूचित जाति के व्यक्ति का भविष्य ख़राब हुआ हैं.

उन्होंने अपने एक ट्वीट में बताया कि वानखेड़े के निकाह के दौरान मेहर की रकम 33 हजार रूपये थे. समीर की बड़ी बहन यास्मीन दाऊद वानखेड़े के पति अजीज खान इसमें गवाह नंबर 2 थे. 7 दिसंबर 2006 गुरुवार को समीर दाऊद वानखेड़े और शबाना कुरैशी का निकाह मुंबई में हुआ था.

About Preet Bharatiya

Avatar of Preet Bharatiya
प्रीत हिंदी न्यूज़ कंटेंट राइटर हैं, पत्रकारिता में M.A की योग्यता रखती हैं, फिलहाल ये यूसी न्यूज़ हिंदी के लिए बतौर फ्रीलांसर कार्य कर रही हैं।

Leave a Reply

Your email address will not be published.