आधी रात को EVM ट्रक में भरकर कहां जा रही थी, जानिए चुनाव आयोग ने सफाई में क्‍या कहा

उत्‍तर प्रदेश में विधानसभा चुनाव संपन्‍न हो चुका है, इसके साथ ही अब नतीजों का इंतजार किया जा रहा है. इसी बीच वाराणसी में ईवीएम को लेकर सनसनीखेज मामला सामने आया है जो पूरे सूबे में चर्चा में बना हुआ है. दरअसल वाराणसी में एक ट्रक में EVM लेकर जाने के मामले का खुलासा हुआ है जिसके बाद विपक्षी पार्टियां सक्रिय हो गई है. विपक्ष का कहना है कि भाजपा चुनाव में धांधली का प्रयास कर रही है.

इस मामले को लेकर जारी विवाद के बीच सरकार का पक्ष सामने आया है. इस मामले में यूपी सरकार ने कहा कि ये ईवीएम प्रशिक्षण के मकसद से ले जाई रही थी.

अखिलेश ने चुनाव अयोग और सरकार को घेरा

जिला प्रशासन ने कहा कि गाड़ी कुछ ईवीएम लेकर जा रही थी तभी कुछ राजनीतिक लोगों ने उसे रोका और यह अफवाह फैलाई कि गाड़ी में रखी हुई EVM चुनाव में इस्तेमाल की गई थीं.

evm varanasi

मंगलवार 8 मार्च को इस मसले पर समाजवादी पार्टी ने एक प्रेस कॉन्फ्रेंस कर राज्‍य की योगी आदित्यनाथ सरकार और चुनाव आयोग पर सवाल उठाते हुए उन्‍हें कटघरे में खड़ा किया.

अखिलेश यादव ने कहा कि समाजवादी पार्टी के राष्‍ट्रीय अध्‍यक्ष अखिलेश यादव ने आरोप लगाते हुए कहा कि चुनावी मतगणना से पहले ही स्ट्रॉन्ग रूम्स से चुनाव से जुड़ी EVM को निकाल गया और उन्‍हे किसी दूसरी जगह शिफ्ट लेकर जाया जा रहा था.

अखिलेश ने दावा किया कि ऐसा वोटिंग मशीनों से छेड़छाड़ करने के लिए किया जा रहा है. उन्‍होंने आगे कहा कि सीएम के प्रमुख सचिव डीएम को फ़ोन कर बता रहे है कि वहां भाजपा हारने वाली है, वहां पर काउंटिंग स्लो की जाएं.

सूबे के पूर्व मुख्‍यमंत्री ने आगे कहा कि बिना सुरक्षा के EVM क्‍यों ले जाई रही हैं? बनारस में EVM लेकर 3 ट्रक जा रहे थे, जिसमें से एक पकड़ा गया, लेकिन दो भाग गए. इसके आलावा बरेली में भी EVM और बैलेट पेपर SDM और अधिकारियों की गाड़ी में पकड़े गए हैं.

akhilesh yadav on evm

चुनाव आयोग ने दी सफाई

वहीं इस मामले में चुनाव आयोग ने सफाई जारी की है. आयोग ने कहा है कि वाराणसी में गाड़ी से जो EVM मशीनें बरामद की गई है वो अधिकारियों के लिए मतगणना की ट्रेनिंग के लिए लाई गई थी और इनका मतदान में इस्तेमाल नही हुआ है.

वहीं इसे लेकर यूपी सरकार के अपर मुख्य सचिव नवनीत सहगल ने कहा कि EVM प्रशिक्षण के लिए UP कॉलेज में लाई जा रही थीं. इस बीच कुछ राजनीतिक लोगों ने इन्‍हें चुनाव में इस्‍तेमाल EVM बता कर अफवाह फैलाई.

उन्‍होंने कहा कि कल मतगणना में लगे कर्मचारियों की दूसरी ट्रेनिंग है और इनका हमेशा से इस्तेमाल होता रहा है. चुनाव में चुनाव में प्रयुक्त EVM CRPF के कब्जे में स्ट्रॉन्ग रूम में सील बंद हैं. जिसकी CCTV की निगरानी हो रही है जिसे सभी राजनीतिक दलों देख रहे है.

About Preet Bharatiya

Avatar of Preet Bharatiya
प्रीत हिंदी न्यूज़ कंटेंट राइटर हैं, पत्रकारिता में M.A की योग्यता रखती हैं, फिलहाल ये यूसी न्यूज़ हिंदी के लिए बतौर फ्रीलांसर कार्य कर रही हैं।

Leave a Reply

Your email address will not be published.