‘अल्लाह हू अकबर’ का नारा लगाने वाली मुस्कान को जमीअत की तरफ से मिला पांच लाख रुपये इनाम

यूसी न्यूज़ हिंदी, सहारनपुर: कर्नाटक में कॉलेज के अंदर हिजाब पहने जिस छात्रा मुस्कान खान का वीडियो वायरल हुआ था जमीयत उलेमा ए हिंद के अध्यक्ष मौलाना महमूद मदनी ने उस लड़की को पांच लाख रुपये इनाम देने की घोषणा की है. जब से जिस मुस्लिम छात्रा का वीडियो वायरल हुआ है यह लड़की सोशल मीडिया से लेकर मैन स्ट्रीम मीडिया में और बड़े चैनलों समेत विदेशी मीडिया में छाई हुई है. लोग इस बेखौफ लड़की की जमकर तारीफ कर रहे हैं.

Muskan Ko 5 Lakh Rupey Inam

जिस समय यह लड़की कॉलेज के अंदर जाती है तभी वहां सैकड़ों युवकों का झुंड उसकी तरफ जय श्रीराम के नारे लगाता हुआ बढ़ता है और जैसे ही वह एक बार पलटती है तो उन युवकों का झुंड थोड़ा संयम जाता है और उसके बाद वह दोबारा से नारों के साथ अपनी आवाज को बुलंद करते हैं तो लड़की भी जवाब में अल्लाह हू अकबर क नारा लगाती है. इसके बाद उसके कॉलेज के प्रिंसिपल और अध्यापक इस लड़की के बचाव में आ जाते हैं.

कौन है अल्लाह हू अकबर का नारा लगाने वाली मुस्कान?

Who is girl Muskan, Raising the slogan of Allah Hu Akbar: मुस्कान कर्नाटक के महात्मा गांधी कॉलेज उडुपी की छात्रा है. अचानक हुई एक छोटी सी घटना ने मुस्कान की जिंदगी को बदल कर रख दिया है. अधिकतर लोग उसके बारे में जानना चाहते हैं, बड़े Main Stream मीडिया हाउस उसका इंटरव्यू ले रहे हैं.

इधर हिजाब विवाद को लेकर आज हाईकोर्ट की निचली छोटी बेंच ने इस केस पर अपने हाथ खड़े कर लिए और उन्होंने कहा है कि क्योंकि यह एक संवेदनशील मुद्दा होता जा रहा है इसलिए यह केस हम बड़ी बेंच को रेफर कर रहे हैं अब हाईकोर्ट की बड़ी बेंच और जजों की निगरानी में इस केस की देखरेख करेगा.

और इस बीच आज जब स्कूल लगे तो हिजाब पहनी हुई छात्राओं को अलग से बैठाया गया हालांकि प्रशासन ने गाइडलाइन जारी कर दी है कि स्कूल या कॉलेज परिसर के 200 मीटर के दायरे में किसी भी तरह की भीड़ भाड़ या जमावड़ा नहीं होगा अन्यथा उस पर कानूनी कार्रवाई की जाएगी.

हाई कोर्ट ने इस मामले की सुनवाई करते हुए कर्नाटक राज्य के लोगों और आसपास के लोगों से शांति बनाए रखने की अपील की है. एक छोटे से विवाद को तूल देकर तिल का ताड़ कर देने की वजह से बच्चों के भविष्य पर संकट आ खड़ा हुआ है.

अगर यह सब ज्यादा दिन तक चला तो यह वाकई में चिंता का विषय है लोगों को चाहिए एक दूसरे की भावनाओं का सम्मान करें और आपसी मनमुटाव खत्म करें. फिलहाल अब देखना यह है कि हाईकोर्ट इस मामले को किस तरह से लेता है और उनका फैसला किस तरह का होगा.

About भास्कर राणा

Avatar of भास्कर राणा
भास्कर वरिष्ठ पत्रकार हैं, पिछले 5 वर्षों से विभिन्न न्यूज़ संस्थानों के लिए बतौर लेखक के रूप में अपनी सेवाएं देते हैं. फिलहाल यूसी न्यूज़ हिंदी के लिए एक फ्रीलांसर के रूप में कार्य कर रहे हैं.

Leave a Reply

Your email address will not be published.