कौन हैं UAE की राजकुमारी हेंड अल कासिमी? सुधीर चौधरी को ‘इस्लामोफोबिक’ बोल सोशल मीडिया पर कर रही हैं ट्रेंड

Who is Sheikha Hend Al Qassimi?: संयुक्त अरब अमीरात (यूएई) के शाही परिवार की राजकुमारी (UAE Ki Rajkumari) हेंड बिंट फैसल अल-कासिमी ने भारतीय न्यूज़ एंकर सुधीर चौधरी को ‘इस्लामोफोबिक’ करार दिया. दरअसल अबू धाबी चार्टर्ड एकाउंटेंट्स कार्यक्रम में एंकर सुधीर चौधरी को बतौर स्पीकर बुलाया गया था. लेकिन प्रिंसेज हेंड अल कासिमी के एतराज के बाद सुधीर चौधरी को सेमिनार से ड्राप कर दिया गया है.  उन्होंने सुधीर द्वारा फर्जी खबरें फैलाए जाने के आरोप लगाते हुए उनकी आलोचना की थी. वो इस्लामोफोबिक को लेकर हमेशा अपनी आवाज़ बुलंद करती रही है. तो चलिए जानते हैं कि कौन हैं प्रिंसेज हेंड अल कासिमी.

जानिए कौन हैं युएई की राजकुमारी ‘हेंड अल कासिमी’

प्रिंसिस हेंड बिंट फैसल अल-कासिमी शारजाह युएई में स्थित प्रभावशाली अल कासिमी परिवार से ताल्लुक रखती है. मध्य पूर्व में उनका राजवंश लंबे वक्त तक चलने वाले वंशों में से एक रहा है. उनका खानदान दावा करता रहा है कि वो पैगंबर मुहम्मद साहब के प्रत्यक्ष वंशज हैं. प्रिंसिस कासिमी के पिता पेशे से एक डॉक्टर है, वहीं उनकी मां संयुक्त अरब अमीरात में एक स्कूल में प्रिंसिपल के तौर पर काम करती है.

Hend bint Faisal Al Qasimi

सोशल मीडिया पर राजकुमारी काफी एक्टिव रहती हैं, वो अपने मुखर विचारों के लिए जानी जाती है. वो सभी मुद्दों पर अपने विचार रखती है और खासकर इस्लामोफोबिया की निं’दा करने के लिए जानी जाती हैं. वो गलत के खिलाफ आवाज़ उठाती हैं.

आपको बता दें कि ‘UAE की राजकुमारी’ हेंड अल कासिमी पेशे से एक व्यवसायी होने के साथ साथ वह एक लेखक और पत्रकार भी हैं. राजकुमारी हेंड अल कासिमी के नाम पर अब तक कई रचनाएं प्रकाशित हो चुकी है. वो दुबई फैशन वीक की अध्यक्षता एक संरक्षक के तौर पर करती हैं.

प्रिंसिस हेंड अल कासिमी के विकिपीडिया पेज के मुताबिक दुनिया भर के विभिन्न संस्थानों से राजकुमारी हेंड अल कासिमी ने वास्तुकला, परियोजना प्रबंधन, उद्यमिता, प्रबंधन, विपणन, संचार और मीडिया की पढ़ाई कर डीग्री हासिल की हैं.

Sheikha Hend bint

एक पत्रकार के तौर पर राजकुमारी कासिमी ने कई प्रकाशनों के लिए काम किया है. वो एक लाइफस्टाइल पत्रिका की प्रधान संपादक भी रह चुकी हैं. कासिमी ने द ब्लैक बुक ऑफ अरेबिया नामक एक बुक भी लिखी हैं.

क़तर के प्रिंस से हुयी थी युएई की राजकुमारी की शादी

राजकुमारी कासिमी ने साल 2006 में कतर के अमीर प्रिंस अल थानी से शादी रचाई थी. दोनों का एक बेटा भी है, लेकिन उनकी यह शादी लंबे वक्त तक नहीं चल सकी. कुछ सालों बाद प्रिंस अल थानी और प्रिंसिस कासिमी सौहार्दपूर्ण ढंग से अलग हो गए.

एक इंटरव्यू में राजकुमारी ने कहा था कि प्रिंस अल थानी को शादी से पहले ही बता दिया गया था कि अगर किसी वजह से शादी टूटने की नौबत आती है तो उसके पास कोई अधिकार नहीं रहेंगे. इसी रजामंदी पर मैंने प्रिंस अल थानी से शादी की थी. तलाक के बाद दहेज़ के तौर पर जो कुछ भी दिया गया था वो सबकुछ वापस लौटा दिया गया हैं.

बेटे की कस्टडी के लिए लड़ रही हैं केस

इसके बाद राजकुमारी कासिमी अपने बेटे के साथ युएई वापस रहने के लिए आ गई. जिस पर अमीर प्रिंस अल थानी ने प्रिंसिस कासिमी पर बेटे को उनसे दूर ले जाने के आरोप लगाए. जिसके चलते राजकुमारी वापस कतर रहने पहुंच गई, इसके बाद से ही वो दोहा में रह रही है.

राजकुमारी कासिमी अपने बेटे की कस्टडी हासिल करने के लिए लगातार कानूनी लड़ाई लड़ रही है. उन्होंने एक वीडियो सोशल मीडिया पर शेयर करके अपील भी की थी. कतरी प्रशासन उनके बेटे के लिए पासपोर्ट जारी करता है तो वो उसके साथ युएई वापस लौट पाएंगी.

प्रातिक्रिया दे

आपका ईमेल पता प्रकाशित नहीं किया जाएगा. आवश्यक फ़ील्ड चिह्नित हैं *