हिजाब को लेकर राजस्थान में महिलाओं का बड़ा प्रदर्शन, दूसरे राज्यों में भी हक़ को लेकर तैयारी

हाल ही में हिजाब को लेकर विवाद देखने को मिला. हिजाब पर कर्नाटक से शुरू हुआ विवाद देश के कई अन्‍य हिस्‍सों में भी देखने मिला. हिजाब के समर्थन और विरोध में भी कई जगहों पर प्रदर्शन किए गए. इसी बीच अब राजस्‍थान से हिजाब को लेकर विवाद सामने आया है जो हर त‍रफ चार्चा का विषय बना हुआ है. कई माहिलाओं ने हिजाब को लेकर विरोध-प्रदर्शन किया.

मीडिया रिपोर्ट के अनुसार मुस्लिम समाज की महिलाओं ने अजमेर दरगाह शरीफ के मुख्य निजाम गेट के बाहर हिजाब को लेकर वि’रोध-प्रदर्शन किया. मुस्लिम महिलाओं ने स्कूल, कॉलेज ओर यूनिवर्सिटी में हिजाब को लेकर चल रहे विराध पर अपना गुस्सा जाहिर किया.

हिजाब को लेकर प्रदर्शन

प्रदर्शन में शामिल हुई मुस्लिम महिलाओंं और लड़कियों का कहना है कि वो पर्दे के तौर पर हिजाब पहनती हैं और कई वर्षों से यह परंपरा चली आ रही है.

Hijab rajsthan

उन्होंने आगे कहा कि पिछले कुछ दिनों से देश भर में अलग-अलग जगहों से हिजाब को लेकर वि’रोध देखने को मिल रहा है. जिसेे मुस्लिम समाज बर्दाश्त नहीं करेगा.

उन्‍होंने कहा कि महिलाएं अपने पारंपरिक हिजाब को पहनेगी. इसके साथ ही हिजाब को लेकर प्रदर्शनकारी महिलाओं ने एडीएम सिटी को राष्ट्रपति के नाम ज्ञापन भी सौंपा है.

मुस्लिम महिलाओं द्वारा दिए गए ज्ञापन में कहा गया है कि मुस्लिम महिलाओं और बालिकाओं को देश के कई हिस्‍सों में हिजाब पहनने से रोकने केे मामले सामने आए है.

इसमें कहा गया है कि अगर मुस्लिम महिलाओं और बालिकाओं ऐसे ही आगे भी रोका जाता है तो फिर मुस्लिम समुदाय वि’द्रोह का रूप अख्तियार करेगा, क्‍योंकि हिजाब पहनने से रोका जाना लोकतंत्र के खिलाफ होगा.

यह हमारी जिंदगी का हिस्सा

महिलाओं ने कहा कि किसी को भी हिजाब को लेकर समस्या नहीं होनी चाहिए. यह पारंपरिक पहनावा और पर्दा है जिसे मुस्लिम महिलाएं वर्षें से पहन रही है और इन्‍हें कभी नहीं छोड़ सकती हैं.

Hijab school

प्रदर्शन कर रही माहिलाओं ने कहा कि हिजाब हमारी आस्था के साथ जुड़ा हुआ है, यह कोई कपड़े का दुकड़ा मात्र नहीं है बल्कि यह हमारी जिंदगी का हिस्सा है.

आपको बता दें कि हाल ही में कर्नाटक से हिजाब पर विवाद देखने को मिला, राज्‍य के एक स्‍कूल मेंं कुछ मुस्लिम छात्रों को हिजाब के साथ परीक्षा हॉल में प्रवेश नहीं दिया गया था. जिसके बाद सूबे में इस पर काफी विवाद छिड़ गया था.

इसके बाद कई अन्‍य राज्‍य और क्षेत्रों से भी ऐसे कई मामले सामने आए. फिलहाल इस मामले पर हाईकोर्ट में सुनवाई चल रही है.

About Preet Bharatiya

Avatar of Preet Bharatiya
प्रीत हिंदी न्यूज़ कंटेंट राइटर हैं, पत्रकारिता में M.A की योग्यता रखती हैं, फिलहाल ये यूसी न्यूज़ हिंदी के लिए बतौर फ्रीलांसर कार्य कर रही हैं।

Leave a Reply

Your email address will not be published.